रामपुर…बिलासपुर सीट से सपा बिगाड़ेगी BJP का खेल:सिख चेहरे को उतारने की तैयारी में पार्टी, भाजपा से राज्यमंत्री बलदेव सिंह औलख मैदान में

रामपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बिलासपुर सीट से सपा बिगाड़ेगी - Dainik Bhaskar
बिलासपुर सीट से सपा बिगाड़ेगी

समाजवादी पार्टी की ओर से रामपुर की 5 सीटों पर प्रत्याशियों की अगले आने वाले एक-दो दिन में घोषणा हो सकती है। सूत्रों के अनुसार, सपा बिलासपुर सीट-36 से अपने प्रत्याशी के रूप में सिख चेहरे पर दांव खेलने वाली है, जिसका नाम तय कर लिया गया है। बस उसकी औपचारिक घोषणा होना बाकी है।

पार्टी सूत्रों के मुताबिक, सिख चेहरा अमरजीत सिंह ढिल्लों सपा के बिलासपुर सीट से उम्मीदवार हो सकते हैं। अमरजीत सिंह ढिल्लों पिछले 3 जिला पंचायत सदस्य चुनाव जीतते आ रहे हैं और समाजवादी पार्टी के पुराने कार्यकर्ता हैं।

सूत्रों से यह भी ज्ञात हुआ है कि आजम खां की अनुपस्थिति में अब्दुला आजम ने भी अपनी मोहर लगा दी है। वहीं भाजपा ने एक बार फिर बिलासपुर विधानसभा सीट पर बलदेव सिंह औलख को प्रत्याशी बनाया है। इस सीट पर भाजपा और सपा के बीच सीधा मुकाबला देखने को मिल सकता है। इस सीट पर कौन जीत दर्ज करेगा, ये तो चुनाव के नतीजों के बाद ही साफ होगा। फिलहाल अभी तक भाजपा और कांग्रेस ने सीट पर अपने दावेदार पेश किए हैं। कांग्रेस ने पूर्व विधायक संजय कपूर को अपना प्रत्याशी बनाया है।

बिलासपुर सीट का आखिर क्या है गणित

पिछले चार विधानसभा चुनावों में यहां से दो बार कांग्रेस के प्रत्याशी विधानसभा पहुंचे, जबकि एक-एक बार समाजवादी पार्टी और भाजपा का उम्मीदवार विधानसभा पहुंचा है, जिसमें सिख चेहरा होने के कारण भाजपा के उम्मीदवार बलदेव सिंह औलख को प्रदेश सरकार में राज्यमंत्री भी बनाया गया।

17वीं विधानसभा चुनाव 2017 के नतीजे

2017 के विधानसभा चुनाव में इस सीट से बीजेपी के बलदेव सिंह औलख को जीत मिली थी। उन्होंने कांग्रेस उम्मीदवार संजय कपूर को 22,359 वोटों के अंतर से मात दी थी। बलदेव सिंह को 99,100 वोट प्राप्त हुए थे, जबकि संजय कपूर को 76,741 वोट मिले थे। वहीं इस चुनाव में तीसरे नंबर पर बसपा के प्रत्याशी प्रदीप कुमार थे। उन्हें 39,344 वोट मिले थे।

16वीं विधानसभा चुनाव 2012 के नतीजे

साल 2012 के चुनाव में इस सीट से कांग्रेस के उम्मीदवार संजय कपूर ने समाजवादी पार्टी की बीना भारद्वाज को पराजित किया था। बहुजन समाज पार्टी के अमरीश कुमार 18.66 फीसदी वोटों के साथ तीसरे स्थान पर रहे थे, जबकि भारतीय जनता पार्टी के ज्वाला प्रसाद 18.63 प्रतिशत मतों के साथ चौथे स्थान पर रहे थे।

15वीं विधानसभा चुनाव 2007 के नतीजे

2007 के विधानसभा चुनावों में भी कांग्रेस के संजय कपूर ने ही जीत दर्ज की थी। उन्होंने तब बीजेपी के ज्वाला प्रसाद को परास्त किया था। इस चुनाव में तीसरे स्थान पर समाजवादी पार्टी की बीना भारद्वाज रही थीं, जबकि बहुजन समाज पार्टी के लखविंदर सिंह चौथे स्थान पर रहे थे।

14वीं विधानसभा चुनाव 2002 के नतीजे

साल 2002 के विधानसभा चुनावों में यहां से समाजवादी पार्टी की बीना भारद्वाज ने कांग्रेस के प्रत्याशी संजय कपूर को हराया था। तीसरे स्थान पर आरटीकेपी के ज्वाला प्रसाद रहे थे, जबकि 13.91 फीसदी वोटों के साथ बीएसपी के मुमताज खान चौथे स्थान पर रहे थे।

खबरें और भी हैं...