रामपुर में तहसील कर्मी को पीटने पर SI निलंबित:पक्षी विहार झील के गेट पर पुलिस ने की थी पिटाई, SP ने गंज थाने के SI पर की कार्रवाई

रामपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रामपुर में 2 दिन पहले पक्षी विहार झील के गेट पर करीब दर्जनभर पुलिसकर्मियों द्वारा तहसील कर्मी को बेरहमी से पीटकर लहूलुहान करने की घटना में एसपी ने एक्शन लिया है। एसपी ने आरोपी एसआई लईक अहमद को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।

झील के स्टैंड स्वामी से हुआ था विवाद 13 मई की देर रात कस्तूरबा गांधी पक्षी विहार झील के गेट पर तहसील कर्मी वीआरसी पुष्पेंद्र कुमार अपने एक दोस्त के साथ मौजूद था। पुष्पेंद्र कुमार का झील के स्टैंड ठेकेदार समद खान से विवाद हो गया था। स्टैंड के ठेकेदार समद के कहने पर वीआरसी पुष्पेंद्र कुमार को करीब दर्जनभर पुलिसकर्मियों ने भीड़ के सामने दौड़ा-दौड़ा कर पीटा और इतनी बेरहमी से पीटा कि वह मौके पर ही लहूलुहान हो गया था। थाना गंज में तैनात उपनिरीक्षक लईक अहमद भी वहां मौजूद थे।

कार्रवाई नहीं होने पर धरने की दी थी चेतावनी
तहसील कर्मी की बेरहमी से पिटाई के चलते लेखपाल संघ पुलिस से काफी नाराज है। लेखपाल संघ के पदाधिकारियों ने घटना की निंदा करते हुए समाधान दिवस में तहरीर दी थी। लेखपाल संघ ने एक मैमोरैंडम एसडीएम सदर को देकर दोषी पुलिसकर्मियों को निलंबित कर फौरन गिरफ्तार करने की मांग की थी और ऐसा नहीं करने पर 17 मई को धरना देने की चेतावनी भी दी थी।

शराब पीकर छेड़छाड़ करने का है आरोप
पुलिस क्षेत्राधिकारी सिटी अनुज चौधरी के मुताबिक, दो पक्षों में लड़ाई हो रही थी और तहसील कर्मी शराब पीकर झगड़ा करते हुए महिलाओं से छेड़छाड़ कर रहा था। आरोप यह भी है कि इस दौरान वह पुलिस से भी उलझ गया और वर्दी फाड़ दी और बैच नोच लिए थे, जिससे पुलिस ने बल प्रयोग किया। अब इसमें पुलिस अधीक्षक एके शुक्ला ने कार्रवाई करते हुए थाना गंज में तैनात उपनिरीक्षक लईक अहमद को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। साथ ही विधिक कार्रवाई की जा रही है।

खबरें और भी हैं...