रामपुर में बाढ़ कटान से बचाने की कवायद शुरू:98 लाख के ट्राइ-पॉड मॉडल से रामगंगा-कोसी नदी का होगा तट संरक्षण

रामपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रामपुर में अब ट्राइ पॉड मॉडल से रामगंगा का कटान रोका जाएगा। इससे ग्रामीणों को बाढ़ से राहत मिलेगी। मंगलवार को रामगंगा और कोसी नदी के मिलन स्थल पर कटान रोकने को लेकर डीएम रविंद्र मांदड़ ने निरीक्षण किया। डीएम ने नदी के तट को बचाए रखने तथा भविष्य में बाढ़ की स्थिति से निपटने के इंतजामों की जानकारी ली।

डीएम ने बताया कि सिंचाई विभाग 82 लाख रुपए की लागत से छह सौ मीटर लंबाई में ट्राइपॉड मॉडल पर नदी तट को सुरक्षित बनाने के लिए कार्य कराए जाएंगे। वहीं, मनरेगा के तहत 6 लाख रुपए की लागत से 600 मीटर नदी के तटीय क्षेत्र में प्लांटेशन, बंधा निर्माण और साफ सफाई का कार्य होगा। नदी तट संरक्षण एवं विकास अभियान के अंतर्गत मथुरापुर स्थित रामगंगा और कोसी नदी के मिलन स्थल पर ट्राईपॉड मॉडल से काम कराया जाएगा।

पानी पंचायत में डीएम ने ग्रामीणों को पढ़ाया जल संरक्षण का पाठ
मथुरापुर के ग्रामीण जनों के साथ आयोजित पानी पंचायत के दौरान उन्हें पानी को सुरक्षित करने के बारे में डीएम ने बारीकी से समझाया। डीएम ने कहा कि प्रशासन की जल बचाने की मुहिम तभी कामयाब होगी जब सभी इसके महत्व को समझेंगे और पानी की बर्बादी को रोकने में भी अपनी जिम्मेदारी निभाएंगे।

सरकारी प्रयासों के साथ-साथ आमजन भी यह जिम्मेदारी लें कि अनावश्यक रूप से जल का दोहन न होने पाए। रोजगार सेवक यह सुनिश्चित करें कि नदी संरक्षण के लिए कराए जा रहे कार्यों में मनरेगा के तहत महिलाओं की भी बराबर की भागीदारी होनी चाहिए ताकि उन्हें भी रोजगार मिलें।

अमृत सरोवर की तैयारियों का लिया जायजा
13 मई को कैबिनेट मंत्री भारत सरकार मुख्तार अब्बास नकवी और कैबिनेट मंत्री उत्तर प्रदेश सरकार स्वतंत्र देव सिंह द्वारा तहसील शाहबाद के ग्राम पंचायत पटवाई स्थित देश के पहले अमृत सरोवर का उद्घाटन कार्यक्रम प्रस्तावित है। उद्घाटन कार्यक्रम के संबंध में तैयारियों का जायजा लेने के लिए जिलाधिकारी और मुख्य विकास अधिकारी ने निरीक्षण किया तथा खंड विकास अधिकारी और जिला पंचायत राज अधिकारी को तैयारियों के संबंध में जरूरी दिशा निर्देश दिए।

खबरें और भी हैं...