रामपुर में हत्यारोपी भाई मुठभेड़ में गिरफ्तार:एक हफ्ते पहले वारदात को दिया था अंजाम, कारोबार में तरक्की नहीं हुई बर्दाश्त तो गोली मार दी

रामपुर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

रामपुर में करीब एक हफ्ते पहले होने वाले ससुर और साले के साथ बाइक पर जा रहे हैं युवक समीर राजपूत को दो अज्ञात बाइक सवार असलहाधारी बदमाशों ने गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया था। सिविल लाइन थाना क्षेत्र के पॉश इलाके में यह घटना हुई थी। पुलिस ने घटना के मास्टरमाइंड को उसके साथियों के साथ मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के मुताबिक, मृतक के भाई ने ही कारोबार के रंजिश के चलते गोली मारकर भाई की हत्या की थी।

होने वाली ससुराल के पास दिया था घटना को अंजाम

बता दें कि बीते एक हफ्ता पहले सिविल लाइन थाना क्षेत्र में बाइक सवार होने वाले ससुर बोध श्याम माहौर, साले विशाल माहौर और दामाद समीर राजपूत पर देर रात को दो अज्ञात बदमाशों ने असलहों से हमला कर दिया था। दामाद की कनपटी पर असलहा रखकर गोली मार दी थी। इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी। बदमाशों ने घटना को मृतक की होने वाली ससुराल शिव विहार इलाके में अंजाम दिया था।

पुलिस मुठभेड़ के बाद दबोचे गए बदमाशों से हुआ खुलासा

बीती रात सिविल लाइन क्षेत्र में पुलिस द्वारा तीन बदमाशों को बाइक पर रोकने पर उन्होंने पुलिस पर हमला कर दिया। जवाबी हमला करते हुए पुलिस ने तीनों बदमाशों को धर दबोचा। इस बीच दो बदमाशों को पैर में गोली लगी। बदमाशों को उपचार दिलाए जाने के दौरान उन्होंने अपना नाम लाखन, देवेश और फिरोज बताए।

कंसल्टेंसी कारोबार में हो रहा था नुकसान

पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल ने बताया कि पुलिस द्वारा सख्ती से पूछताछ करने पर लाखन ने बताया कि एक हफ्ता पहले समीर राजपूत यानी अपने भाई की उसने कारोबारी रंजिश के चलते गोली मारकर हत्या कर दी थी। पहले उसका भाई उसके साथ काम करके उसके कन्सल्टेंसी कारोबार को बढ़ा रहा था। बाद में खुद का कारोबार करने से उसे नुकसान हो रहा था, जिसके चलते उससे रंजिश मानने लगा और घटना को अंजाम दिया।

जल्द होने वाली थी शादी

थाना शाहबाद के रायपुर का मजरा निवासी समीर राजपूत (30) थाना सिविल लाइंस में एक कंसल्टेंसी प्रोफेशन से जुड़ा था। साथ में काम करने वाली एक युवती से उसकी मित्रता हो गई, जो जल्द ही विवाह सूत्र में बंधने वाले थे।

खबरें और भी हैं...