टांडा में खेत से ट्रैक्टर-ट्राली निकाले पर घंटो हुई फायरिंग:उत्तराखंड बार्डर के गांव सूरजपुर में हुई घटना, दस पर मुकदमा दर्ज

टांडा, रामपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

टांडा के गांव सूरजपुर में उत्तराखंड बार्डर के पास रास्ते के विवाद को लेकर सोमवार रात दो पक्षों में घंटों फायरिंग हुई। घटना की सूचना पर अपर पुलिस अधीक्षक और सीओ मौके पर पहुंचे। पुलिस ने मामले में दस लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है।

गांव सूरजपुर के सामने उत्तराखंड बार्डर पर कुछ लोगों ने हाल ही में स्टोन क्रशर लगाया गया है। वहीं पास में ही सूरजपुर निवासी अजयपाल सिंह के खेत हैं। रविवार को क्रेशर के काम में लगी ट्रेक्टर ट्राली उनके खेत से होकर गुजर रही थी। इस पर उन्होंने व उनके पुत्र राजेश्वर ने आपत्ति जताई। इसी बात को लेकर विवाद बढ़ गया और और दोनों पक्षों में मारपीट हो गई। मामला पुलिस तक पहुंचा तो पुलिस ने मामले को शांत कर दिया।

पुलिस से समझाने के बाद भी नहीं थमा विवाद

पुलिस से समझाने के बाद भी विवाद थमा नहीं। आरोप है कि सोमवार को हथियारों से लैस दूसरे पक्ष के लोग स्टोन क्रेशर के पास पहुंच गए और गाली गलौच करते हुए मारपीट करने लगे। इसके बाद दोनों पक्षों में घंटों फायरिंग हुई। सूचना पर टांडा थाना प्रभारी अजयपाल सिंह मौके पर पहुंचे गए। कुछ देर बाद अपर पुलिस अधीक्षक डा. संसार सिंह व सीओ श्रीकांत प्रजापति भी घटना स्थल पर पहुंच गए।

छह के किया गया नामजद

थाना प्रभारी अजयपाल सिंह ने बताया कि रविवार को दोनों पक्षों को समझाकर शांत कराया गया था। लेकिन सोमवार को दोनों पक्षों में फिर से विवाद हो गया। मामले में संदीप उर्फ सोनू, अजयपाल, राजेश्वर सिंह, साहब सिंह, राहुल, राजू व चार अज्ञात मामला दर्ज किया गया। आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

खनन माफियाओं के सामने बौनी नजर आ रही पुलिस

कोसी नदी का दो थानों टांडा, स्वार और उत्तराखंड से जुड़ा होने के कारण अवैध खनन का अड्डा बन गई है। दोनों थाने अपना क्षेत्र न होने का बहाना बनाकर मामले को शांत कर देते हैं। कई बार अधिकारियों की छापेमारी के बाद भी थानों की सीमा में विवाद उलझ कर रहा जाता है। वहीं, पुलिस भी मामले में कार्रवाई से बचती नजर आती है। सूत्रों की मानें तो सोंमवार देर रात हुई घटना में भी पुलिस समझौते का प्रयास करता रही। लेकिन, दोनों पक्षों के न मानने पर मामला दर्ज किया गया।

खबरें और भी हैं...