बेहट में भाजपा महिला मोर्चा कार्यकर्ताओं का हंगामा:अधिशासी अभियंता पर मंडल अध्यक्ष के लिए अशोभनीय भाषा इस्तेमाल करने का आरोप, अधिशासी अभियंता ने मांगी माफी

बेहट, सहारनपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भाजपा महिला मोर्चा की महिलाओं ने अधिशासी अभियंता पर मंडल अध्यक्ष कविता अरोड़ा के लिए अशोभनीय भाषा का इस्तेमाल करने एवं एसडीओ पर विद्युत कनेक्शन जोड़ने के नाम पर 20 हजार रुपए की रिश्वत मांगने का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। काफी देर तक चले हंगामे के बाद अधिशासी अभियंता द्वारा सार्वजनिक तौर पर माफी मांगने पर ही प्रदर्शनकारी शांत हुए।

गुरुवार को भाजपा महिला मोर्चा की पदाधिकारी मंडल अध्यक्ष कविता अरोड़ा के नेतृत्व में बेहट स्थित विद्युत वितरण खंड कार्यालय पहुंचकर विद्युत विभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। हंगामे की सूचना मिलते ही अधिशासी अभियंता जैसे ही कार्यालय से बाहर निकले तो महिलाओं ने उनका घेराव कर लिया। इस दौरान महिलाओं से तीखी नोकझोंक भी हुई। महिलाओं का कहना था कि विद्युत विभाग ने कविता अरोड़ा के स्कूल पर करीब 2.50 लाख रुपए का बिल बताते हुए कनेक्शन काट दिया था।

विभाग की ओर से उन्हें आज तक कोई बिल नहीं भेजा गया। उनका यह भी कहना था कि इस संबंध में वे एसडीओ से भी मिले थे तो लेकिन एसडीओ ने कनेक्शन जुड़वाने के नाम पर 20 हजार रुपए की रिश्वत मांगी। उन्होंने कहा कि बुधवार को जब कविता अरोड़ा का पुत्र अधिशासी अभियंता के कार्यालय पहुंचा और समस्या बताई तो अधिशासी अभियंता ने कविता अरोड़ा के लिए अभद्र भाषा का प्रयोग किया और उनके पुत्र को अपमानित कर कार्यालय से निकाल दिया। काफी देर तक चले हंगामे के बाद अधिशासी अभियंता द्वारा सार्वजनिक तौर पर माफी मांगने के बाद ही महिलाएं शांत हुई।

हंगामा करने वालों में नीतू माहेश्वरी, रश्मि मित्तल, अलका सैनी, पूनम देवी, पूनम सैनी, चांदनी राठौर, गीता सैनी, हफीजा, सलमा, सरिता भार्गव, बजरंग दल के जिला संयोजक हरीश कौशिक, अनुज सैनी, रजत शर्मा, विशाल कुमार, मोनू कुमार, कुणाल, वासु पंकज आदि शामिल रहे।

विद्युत वितरण खंड बेहट के अधिशासी अभियंता एस के निर्भय ने बताया कि रिश्वत मांगने का आरोप गलत है। उन्होंने किसी भी महिला के बारे में किसी अशोभनीय भाषा का इस्तेमाल नहीं किया है। कविता अरोड़ा का बेटा आया था, जिससे उनकी बिल जमा कराने को लेकर कहासुनी हुई थी।

खबरें और भी हैं...