खनन माफिया हाजी इकबाल की अवैध भूमि कुर्क:1350 बीघा भूमि में से 400 बीघा पर प्रशासन ने लगवाया सरकारी बोर्ड

बेहट, सहारनपुर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बेहट में पुलिस एवं प्रशासन की टीम खनन माफिया हाजी इकबाल और उनके बेटों एवं उनके परिचितों के नाम 107 करोड़ की 1350 बेनामी संपत्ति कुर्क करने की कार्रवाई शुरू हो चुकी है। शनिवार को टीम ने हाजी इकबाल की करीब 400 बीघा भूमि पर सरकारी बोर्ड लगवा दिया है।

एसपी देहात सूरज राय एवं तहसीलदार प्रकाश सिंह राजस्व टीम के साथ सबसे पहले शाहपुर गाड़ा पहुंचे। यहां उन्होंने गांव में मुनादी कराते हुए 100 बीघा भूमि पर कब्जा कर सरकारी बोर्ड लगवाया। इसके बाद टीम ग्लोकल यूनिवर्सिटी पहुंची। यहां उन्होंने यूनिवर्सिटी का संचालन करने वाली अब्दुल वहीद एजुकेशनल एंड चैरिटेबल ट्रस्ट के नाम फर्जी कागजात के आधार पर पट्टों की भूमि पर सरकारी बोर्ड लगवाए। तहसीलदार ने बताया कि ग्लोकल यूनिवर्सिटी में कुल 200 बीघा भूमि कुर्क की गई है। इससे पूर्व भी पुलिस प्रशासन की टीम हाजी इकबाल की नौकर नसीम के नाम करीब 21 करोड़ की 50 बेनामी संपत्ति जब्त करने की कार्रवाई कर चुका है।

हाजी इकबाल की अवैध भूमि कुर्क

पुलिस प्रशासन ने हाजी इकबाल की अवैध रूप से अर्जित की गई 1350 बीघा भूमि में से शाम तक करीब 400 बीघा भूमि जब्त कर सरकारी बोर्ड लगवा दिया है। टीम ने गांव शाहपुर गाड़ा में दो अलग-अलग कंपनियों के नाम खरीदी गई भूमि पर जब्तीकरण की कार्रवाई की है। यहां उन्होंने पर्यावरण एवं जन कल्याण विकास समिति के नाम पर खरीदी गई 20 बीघा और अपर माइंस के नाम खरीदी गई 15 बीघा भूमि पर जब्त की कार्रवाई की है।

इसके अलावा टीम ने गांव नागल माफी में मैक्स एग्रो सॉल्यूशन के नाम खरीदी गई भूमि एवं गांव अली अकबरपुर में अब्दुल वहीद एजुकेशनल एंड चैरिटेबल ट्रस्ट के नाम 150 बीघा और गांव रोशनपुर पेलो में खरीदी गई 50 बीघा भूमि पर सरकारी बोर्ड लगवाए। तहसीलदार ने बताया कि हाजी इकबाल की संपत्ति जब्त करने की कार्रवाई रविवार को भी जारी रहेगी।

खबरें और भी हैं...