देवबन्द में मदरसों के सर्वे के विरोध में धरना:कांग्रेस अल्पसंख्यक मोर्चा ने उठाई आवाज, कहा-यह यूपी सरकार की साजिश

देवबन्द12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

देवबंद में उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी अल्पसंख्यक मोर्चा ने मदरसों के सर्वे का विरोध जताया है। रविवार को कार्यकर्ता डाकखाना चौक पर धरने पर बैठ गए। कहा कि सर्वे मदरसों के खिलाफ यूपी सरकार की साजिश है।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस अल्पसंख्यक मोर्चा के अध्यक्ष डॉक्टर खालिद मोहम्मद खान ने सर्वे का विरोध जताया। कहा कि यूपी सरकार की ओर से गैर मान्यता प्राप्त मदरसों की पहचान करने के लिए दिए गए सर्वे के निर्देश सियासी साजिश हैं।

स्कूलों का नहीं कराया कायाकल्प

अध्यक्ष ने कहा कि सर्वे के जरिए एक समुदाय को टारगेट करने का प्रयास किया जा रहा है। फरवरी 2021 के बजट भाषण में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा था कि पीएम श्री योजना के तहत 15,000 से अधिक स्कूलों का कायाकल्प नई शिक्षा नीति द्वारा किया जाएगा। आज 18 महीने बाद अभी तक पूरे देश में एक भी स्कूल अपडेट नहीं हुआ।

कई मदरसों का नहीं है हिसाब-किताब

उपाध्यक्ष वसी अहमद रिजवी ने कहा कि मदरसों की शिक्षा व्यवस्था को लेकर सर्वे कराने के विरोध में देशभर में नाराजगी है। कई ऐसे मदरसे हैं जिनके पास फंडिंग का कोई हिसाब नहीं है। कई बार लोकल फंडिंग होती है जो परिवार के लोग दे जाते हैं। जकात का हिस्सा मिलता है। इसके हिसाब-किताब कम रखे जाते हैं। उन्होंने कहा कि इसके अलावा कई जगह पर मदरसों को ज़मीनें दान में मिली हैं। जमीनों का हिसाब-किताब नहीं है। ऐसे में सर्वे के नाम पर मदरसों को टारगेट करने की कोशिश की जा रही है।

प्रदेश महासचिव हुमायूं बेग ने कहा कि गैर सरकारी मदरसों में मौजूद सुविधाओं की स्थिति जांचने के बहाने नफरत का माहौल बनाना है। प्रदेश में मान्यता प्राप्त मदरसों का हाल बहुत बुरा है। एक-एक कर अल्पसंख्यक संस्थाओं को टारगेट करना भाजपा का उद्देश्य है।

धरने पर बैठे उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी अल्पसंख्यक मोर्चा के कार्यकर्ता।
धरने पर बैठे उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी अल्पसंख्यक मोर्चा के कार्यकर्ता।

इस दौरान तंजीम सिद्दीकी, एजाज अहमद, बिलाल अहमद, डॉ रऊफ, अयान सैफी, हारून, राहत अली हसन आतिफ, दानिश सैफी, सोनू पठान, उमर खालिद ,प्रवीण शर्मा ,ईशान खान परवेज आलम, हाफिज उस्मान आदि मौजूद रहेl

खबरें और भी हैं...