दारुल उलूम पहुंचे अपर प्रमुख सचिव:परिसर भ्रमण कर कोरोना नियमों का कड़ाई से पालन कराने के दिए निर्देश

देवबन्द, सहारनपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

इस्लामिक शिक्षा के अजीम मर्कज दारुल उलूम देवबंद में उत्तर प्रदेश शासन के प्रमुख सचिव व नोडल अधिकारी रजनीश कुमार दुबे ने शुक्रवार को भ्रमण किया। संस्था के मोहतमिम व नायब मोहतमिम से मुलाकात कर इदारे के बारे में विस्तार से जानकारी हासिल करते हुए कोरोना गाइड लाइन का इदारे में पालन कराए जाने के निर्देश दिए।

कोरोना महामारी की रोकथाम की जागरुकता व स्थिति जानने के लिए दुबे सहारनपुर दौरे पर हैं। इस दौरान वह विश्व विख्यात इस्लामिक शिक्षण संस्थान दारुल उलूम पहुंचे। उन्होंने इदारे के मोहतमिम मौलाना मुफ्ती अबुल कासिम नोमानी तथा नायब मोहतमिम अब्दुल खालिक मद्रासी से मुलाकात की।

इस दौरान मोहतमिम मौलाना नौमानी ने दुबे को बताया कि, इदारे की स्थापना वर्ष 1966 में की गयी थी। आजादी की लडाई में रेशमी रूमाल जैसा आंदोलन भी इसी इदारे से शुरू हुआ था।

देवबंद दौरे को लेकर अपर प्रमुख सचिव ने कहा कि, उनकी काफी दिनों से दारुल उलूम भ्रमण की इच्छा थी। इसलिए वह दारुल उलूम आए हैं। यहां का अनुभव बहुत ही अच्छा रहा। बताया कि मस्जिद रशीदिया तथा पुस्तकालय में रखी नायाब किताबों का संग्रह उन्हे काफी पंसद आया।

संस्था के जिम्मेदारों से उन्होंने कोरोना को लेकर बातचीत की और इदारे मे पढ रहे सभी छात्रों से कोरोना के नियमों का पालन करने वैक्सीन की दोनों डोज लगवाने, मास्क लगाने, तथा सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का सख्ती से पालन कराये जाने को कहा।

उन्होंने कहा कि, करोना तेजी से फैल रहा है इसीलिए प्रदेश वासियों को बहुत सतर्क रहने की जरूरत है और सभी को प्रदेश सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का गंभीरता से पालन करना चाहिए। दारूल उलूम देवबंद के दौरे पर आए अपर प्रमुख सचिव के साथ जिलाधिकारी अखिलेश कुमार सिंह, नगर आयुक्त ज्ञानेन्द्र सिंह, सीडीओ विजय कुुमार, एसडीएम दीपक कुमार, आदि मौजूद रहे।