NGT में चलने वाले मामलों के लिए रखें जाएंगे अधिवक्ता:सहारनपुर में आधे से ज्यादा पट्‌टे बंद, फिर भी अप्रैल में 12 करोड़ की हुई आय

सहारनपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सहारनपुर में खनन पट्‌टों को लेकर NGT में कई मामले चल रहे हैं। जिस कारण खनन पट्‌टों के संचालन में परेशानी आ रही है। शासन ने NGT में चलने वाले मामलों की जल्द से जल्द से पैरवी करने को अधिवक्ता नामित करने को कहा है, जिससे केसों का समय से निस्तारण कराया जा सके। मामला निपटने के बाद खनन पट्‌टों की कार्रवाई को आगे बढ़ाया जाएगा।

NGT के आदेश से खनन पट्टों का आवंटन रुका
निदेशक भू-तत्व एवं खनिकर्म डा.रोशन जैकब ने पिछले दिनों प्रदेशभर के जिला खनन अधिकारियों के साथ बैठक की थी, जिसमें सहारनपुर में खनन पट्टों की समीक्षा की थी। जिसमें NGT के आदेश के कारण खनन पट्‌टों का आवंटन रुका हुआ पाया गया था।

उन्होंने खनन अधिकारियों को आदेश दिए थे कि NGT में विचाराधीन मामलों की जल्द से जल्द पैरवी करने के लिए अधिवक्ता नियुक्त किया जाए। रिक्त खनन क्षेत्रों का जल्द से जल्द प्रकाशन भी कराया जाए। उन्होंने कहा कि खनन क्षेत्रों को डीएसआर बनाकर भेजे। जिससे डीएसआर में शामिल किया जा सके।

अप्रैल माह में हुई रिकॉर्ड आय
जिले में खनन क्षेत्रों के बंद होने के बावजूद विभाग ने अप्रैल माह में रिकार्ड आय की है। विभाग ने पिछले दस वर्षों से अधिक राजस्व प्राप्त किया है। अप्रैल माह में विभाग को उस स्थिति में 12 करोड़ रुपए की आय हुई है। जब आधा दर्जन पट्टे बंद हैं।

यदि सभी खनन पट्टे चालू स्थिति में होते तो सरकारी खजाना भर गया होता। संयुक्त निदेशक एवं जिला खान अधिकारी एनके दास अग्रवाल ने बताया कि अप्रैल माह में खनन पट्टों से तीन करोड़ रुपए की आय हुई है। जबकि शेष धनराशि अवैध खनन परिवहन, चैक गेटस, ईंट भट्ठों व अन्य मदों से हुई हैं।

खबरें और भी हैं...