• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Saharanpur
  • 63 Thousand Defaulters Corona Vaccination In Saharanpur: 52990 People Did Not Reach For Get Second Dose Of Covishild And 10080 For Covaccine In Saharanpur

सहारनपुर में कोरोना वैक्सीन के 63 हजार डिफाल्टर:कोविशिल्ड की दूसरी खुराक के लिए 52990 और कोवैक्सीन के लिए 10,080 लोग नहीं पहुंचे, बोले- नोटिफिकेशन न आने से नहीं हो पाई जानकारी

सहारनपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
देशभर में 16 जनवरी 2021 से वैक्सीन� - Dainik Bhaskar
देशभर में 16 जनवरी 2021 से वैक्सीन�

कोरोना वायरस की तीसरी लहर से बचाव को लेकर प्रदेश सरकार अथक प्रयासों में लगी है। ऐसे में सहारनपुर निवासियों की लापरवाही कोरोना संक्रमण के खिलाफ जंग में भारी पड़ रही है। स्वास्थ्य विभाग ने जिले के 63 हजार डिफाल्टरों की लिस्ट तैयार की है। जिन्होंने वैक्सीन की पहली के बाद दूसरी डोज नहीं लगवाई है। इनमें से ज्यादातर 60 साल से ऊपर की आयु के लोग हैं।

5355 फ्रंटलाइन वर्करों ने भी नहीं लगवाई डोज
देशभर में 16 जनवरी 2021 से वैक्सीनेशन शुरू हुआ। सहारनपुर में अभी तक 12,05,163 लोगों को वैक्सीन लग चुकी है। जिनमें 9,94,181 को पहली और 2,10,982 को दूसरी डोज लगी है। हैरानी की बात यह है कि इनमें से 63,000 लोग ऐसे हैं, जिन्होंने पहली डोज लगवाने के बाद दूसरी डोज नहीं लगवाई है। इसमें कोविशिल्ड की सेकेंड डोज लगवाने के लिए 52990 और कोवैक्सीन के लिए 10,080 लोग टीकाकरण केंद्र नहीं पहुंचे। इनमें 5355 फ्रंटलाइन वर्कर भी शामिल है।

दोनों डोज लगने के बाद बनती है एंटीबॉडी
जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ.सुनील वर्मा ने बताया कि वैक्सीन की दोनों डोज लेने के बाद ही शरीर में एंटीबॉडी बनना शुरू होती है। समय सीमा पार करने के बाद पहली डोज का प्रभाव भी खत्म होने लगता है। कोरोना संक्रमण से लड़ाई में लोगों की लापरवाही से स्वास्थ्य विभाग की परेशानी बढ़ रही है। 63 हजार लोग पहली डोज लेने के बाद निर्धारित तिथि तक दूसरी डोज लगवाने के लिए केंद्रों तक नहीं पहुंचे हैं। जबकि विशेषज्ञों का मानना है कि वैक्सीन की दोनों डोज लिए बगैर टीककारण का सुरक्षा चक्र पूरी तरह प्रभावी नहीं होगा।

विशेषज्ञों का मानना है कि वैक्सीन की दोनों डोज लिए बगैर टीककारण का सुरक्षा चक्र पूरी तरह प्रभावी नहीं होगा।
विशेषज्ञों का मानना है कि वैक्सीन की दोनों डोज लिए बगैर टीककारण का सुरक्षा चक्र पूरी तरह प्रभावी नहीं होगा।

फोन कर लगवाई 10 हजार डोज
स्वास्थ्य विभाग का दावा है कि 14 अगस्त को शासन स्तर से डिफाल्टरों की लिस्ट आई थी। जिसके बाद लगभग 23 हजार लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित किया गया। ऐसा भी दावा किया जा रहा है कि स्वास्थ्य विभाग के फोन पर 10,929 लोगों ने दूसरी डोज लगवाई है। अभी तक 18 से 44 आयुवर्ग के 5,97,253, 45 से 60 आयुवर्ग के 3,82,693 व 60 साल से ऊपर के 2,25,227 लोग पहली व दूसरी डोज लगवा चुके हैं। जिनमें से कोविशील्ड की 11,10,605 व को-वैक्सीन की 94,558 डोज लग चुकी है।

दूसरी डोज के नहीं पहुंच रहे नोटिफिकेशन
दैनिक भास्कर द्वारा की गई पड़ताल में सामने आया कि ज्यादातर लोगों के पास दूसरी डोज का नोटिफिकेशन ही नहीं पहुंचा है। लोगों का कहना है कि जब पहली डोज के लिए लाइनों में लगे थे, तो वह दूसरी डोज लगाने से मना कैसे कर सकते हैं। दूसरी डोज का नोटिफिकेशन न आने के कारण ही वह टीका लगवाने नहीं पहुंचे। वहीं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि यह पहली डोज के समय कार्ड पर दूसरी डोज की डेट दी जाती है। लोगों को जिम्मेदार बनना होगा। अपने कार्ड पर पड़ी हुई डेट के अनुसार आकर दूसरी डोज लगवा सकते हैं।

प्रभारी चिकित्साधिकारियों पर होगी कार्रवाई
जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने 18 अगस्त को स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की थी। उन्होंने कहा था कि अगर किसी भी स्वास्थ्य केंद्र व सेंटरों पर वैक्सीन की दूसरी डोज बर्बाद हुई तो वहां के प्रभारी चिकित्साधिकारियों पर कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...