पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सहारनपुर में बाढ़ जैसे हालात:पहाड़ों पर हो रही बारिश के बाद सिद्धपीठ शाकंभरी देवी मंदिर तक पहुंचा बाढ़ का पानी, बादशाही बाग में कार फंसी; लोगों ने रेस्क्यू कर निकाला

सहारनपुर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बादशाही बाग नदी में एक कार फंस गई। जिसको ग्रामीणों ने रेस्क्यू कर बाहर निकाला। - Dainik Bhaskar
बादशाही बाग नदी में एक कार फंस गई। जिसको ग्रामीणों ने रेस्क्यू कर बाहर निकाला।

शिवालिक की पहाड़ियों और मैदानी क्षेत्र में हुई तेज बारिश के बाद सहारनपुर के शाकंभरी देवी सिद्धपीठ में बुधवार देर रात में 10 बजे के लगभग भयंकर बाढ़ आ गई। जबकि गुरुवार की सुबह और दोपहर को भी बरसाती नदी में पानी आ गया, हालांकि सिद्धपीठ में कोई नुकसान नहीं हुआ है। जबकि पानी शंकराचार्य आश्रम, रैन बसेरा, अग्रवाल धर्मशाला तक जा पहुंचा।

कई गांवों का संपर्क तहसील मुख्यालय से कटा
गुरुवार को शाकंभरी खोल का पानी उतर गया। श्रद्धालु भूरादेव पर अपने वाहनों को रोककर पैदल ही सिद्धपीठ तक गए। इसके अलावा घाड़ की सभी बरसाती नदियों में भारी बाढ़ आई। जिसके चलते पूरी रात कई गांवों का तहसील मुख्यालय से संपर्क कट गया। बुधवार की रात्रि में लगभग 10 बजे सिद्धपीठ शाकंभरी देवी में भयंकर बाढ़ आ गई। रात होने के कारण सिद्धपीठ में एक्का दुक्का ही श्रद्धालु रुके थे।

बादशाही बाग नदी में फंस गई कार
शंकराचार्य आश्रम प्रभारी संत सहजानंद महाराज ने बताया कि बाढ़ इतनी भयंकर थी कि पानी शंकराचार्य आश्रम की पांच सीढियों तक जा पहुंचा। इसके अलावा रैन बसेरा, अग्रवाल धर्मशाला आदि की सीढ़ियों तक भी पहुंच गया। इसके अलावा दोपहर में और फिर शाम को 4 बजे के लगभग पानी आ गया। श्रद्धालु अपने वाहनों को भूरादेव पर ही छोड़कर पैदल ही सिद्धपीठ तक पहुंचे। इसके अलावा रात में घाड़ की सभी बरसाती नदियां उफान पर रही। बादशाही बाग खोल, शाहपुर गाड़ा, जैतपुर खुर्द, नौगांवा आदि गांवों की नदियों में भारी बाढ़ के चलते तहसील मुख्यालय से संपर्क कटा रहा। बादशाही बाग नदी में एक कार फंस गई। जिसको ग्रामीणों ने रेस्क्यू कर बाहर निकाला।

खबरें और भी हैं...