ओवैसी बोले, मोदी के तीन यार ड्रामा-फसाद-अत्याचार:सहारनपुर के बेहट में AIMIM ने शोषित, वंचित समाज सम्मेलन किया

सहारनपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
AIMIM के शोषित, वंचित समाज सम्मेलन को संबोधित करते असदुद्दीन ओवैसी। - Dainik Bhaskar
AIMIM के शोषित, वंचित समाज सम्मेलन को संबोधित करते असदुद्दीन ओवैसी।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी सरगर्मी तेज हो गई है। शनिवार को बेहट विधानसभा में AIMIM (ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल-ए-मुस्लिमीन) ने शोषित, वंचित समाज सम्मेलन का आयोजन किया। कार्यक्रम में AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि मोदी के तीन यार, ड्रामा, फसाद और अत्याचार हैं।

धर्म संसद में मुसलमानों पर निशाना
असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि जो लोग मुझे फिरकापरस्त कहते हैं। उनसे मैं सवाल करना चाहता हूं कि हरिद्वार में धर्म संसद में मुसलमानों के खिलाफ बात की जाती है। लेकिन अभी तक किसी की कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है। जब मुसलमानों को कत्लेआम की बात की जाती है, तब धर्म संसद के लोगों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होती है। यह वह भारत नहीं है, जिसको हमने अपने खून से आजाद किया था। भारत सबका है। लेकिन भाजपा इस मुल्क को सिर्फ एक मजहब से जोड़कर मानती है।

RSS मुसलमानों को देशभक्ति का रही पढ़ा पाठ
ओवैसी ने कहा कि RSS भारत के मुसलमानों को देशभक्ति का पाठ पढ़ा रही है। हमने इस मुल्क को अंग्रेजों की गुलामी से आजाद करवाया। उन्होंने कहा कि यदि ओवैसी जरा सा भी बोल देता है तो पुलिस ले जाती है। लेकिन रामदास ने कहा है कि अगर इंसानियत को बचाना है तो मुसलमानों को खत्म कर दो।

योगी राज मतलब: रिश्वत, अपराध, जातिवाद
ओवैसी ने कहा कि हम भाजपा और कांग्रेस को छोड़कर किसी से भी अलायंस कर सकते हैं। उन्होंने अखिलेश के बयान ओवैसी पर बहुत इल्जाम है पर पलवार करते हुए कहा कि अखिलेश यादव साहब इल्जाम सब पर लगते हैं। उन्होंने कहा कि यूपी में योगी राज का मतलब रिश्वत, अपराध और जातिवाद है। उन्होंने मोदी और शाह पर निशाना साधते हुए कहा कि नेशनल बैंक की बात करते हैं। हम इंडियन नेशनलिज्म की बात करते हैं। उन्होंने मीडिया पर निशाना साधते हुए कहा कि कुछ मीडिया घराने चमचे बनकर काम कर रहे हैं।

गांधी को गाली दी, तो मुसलमान को गाली दी
उन्होंने कहा कि मेरा मानना यह है कि भारत का नागरिक बराबर है। अगर गांधी को गाली दी गई, तो मुसलमान को गाली दी गई। गांधी को गाली देने पर मुकदमा अगर हो सकता है, तो मुसलमान को खत्म करने का मुकदमा क्यों नहीं हो सकता है।

खबरें और भी हैं...