पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सहारनपुर में लापता हुआ BDC लौटा घर:देवबंद थाने थाने पहुंची BDC की पत्नी बोली- हथियारबंद दबंगों ने किया पति का अपहरण​​​​​​​, जांच में जुट गई पुलिस; देर रात पति खुद ही घर लौटा

सहारनपुर25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
BDC की पत्नी ने एसएसपी से की पति की सकुशल बरामदगी की गुहार, SSP ने जांच को लगाई थी टीम। - Dainik Bhaskar
BDC की पत्नी ने एसएसपी से की पति की सकुशल बरामदगी की गुहार, SSP ने जांच को लगाई थी टीम।
  • मोबाइल बंद होने के कारण संपर्क नहीं हो पाया तो बीडीसी पत्नी ने लगाया था अपहरण का आरोप।

10 जुलाई को होने वाले ब्लाक प्रमुख पद के चुनाव को लेकर सत्तापक्ष और विपक्ष आमने-सामने आ चुके हैं। इस बीच सहारनपुर से बीडीसी (क्षेत्र पंचायत सदस्य) के अपहरण का मामला प्रकाश में आया है। बीडीसी की पत्नी ने तहरीर देकर पति की सकुशल बरामदगी की गुहार लगाई। वहीं, विपक्ष ने सत्तापक्ष के लोगों पर बीडीसी का अपहरण करने का आरोप लगाया है। देर रात बीडीसी खुद ही घर लौट आया है।

थाने पहुंची BDC की पत्नी बोली- हथियारों के बल पर पति का हो गया अपहरण
मामला कुरड़ी गांव का है। यहां निवासी राखी त्यागी मंगलवार को कोतवाली पहुंची। वहां उसने औचक निरीक्षण को पहुंचे एसएसपी डॉ. एस चिनप्पा को तहरीर देकर कुछ लोगों पर हथियारों के बल पर पति अनुज कुमार का अपहरण करने का आरोप लगाया। तहरीर में राखी ने बताया कि पति बीडीसी है और टैक्सी चलाते हैं। मंगलवार को अनुज कार में गांव के ही कुछ लोगों को लेकर ग्राम घुमाटी जा रहे थे। आरोप है कि जब वह गोपाली गांव के निकट पहुंचे तो कार सवार चार-पांच लोगों ने ओवरटेक कर कार को रोक लिया और हथियारों के बल पर पति का अपहरण कर लिया। कार में सवार यात्रियों ने उसे फोन कर अनुज के अपहरण की जानकारी दी। एसएसपी डॉ. एस चिनप्पा ने पीड़ित महिला को अनुज की सकुशल बरामदगी का आश्वासन दिया। स्थानीय पुलिस को मामले की जांच के आदेश दिए।

सत्तापक्ष पर विपक्ष ने लगाया था अपहरण का आरोप
वहीं, ब्लाक प्रमुख पद की प्रत्याशी नितिशा राणा के पति और सपा नेता कार्तिकेय राणा ने सत्तापक्ष के लोगों पर बीडीसी सदस्य का अपहरण करने का आरोप है। कहा कि प्रदेश में लोकतंत्र की हत्या की जा रही है। सत्तापक्ष के लोग प्रशासन के साथ मिलकर न केवल बीडीसी सदस्यों को डरा धमका रहे हैं, बल्कि अपहरण जैसे गंभीर अपराध को भी अंजाम देने से गुरेज नहीं कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सत्तापक्ष के इशारे पर जो खेल चल रहा है। जनता सब कुछ देख रही है।

सकुशल लौटा बीडीसी
थाना देवबंद प्रभारी अशोक सोलंकी ने बताया कि बीडीसी सदस्य का अपहरण नहीं हुआ था। बल्कि वह बिना बताए कहीं चला गया था। मोबाइल बंद होने के कारण उसका संपर्क अपनी पत्नी से नहीं हो पाया। देर रात बीडीसी घर लौट आया है। अब पुलिस बीडीसी से पूछताछ करेगी।

खबरें और भी हैं...