गृहमंत्री का दावा- UP में अपराध कम है:सहारनपुर में अमित शाह बोले- अखिलेश आंकड़े देख लें, राज्य में क्राइम कम हुआ है

सहारनपुर7 महीने पहले

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पिछली सरकारों से तुलना करते हुए उत्तर प्रदेश में क्राइम कंट्रोल की बात कही है। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव आंकड़े देख लें, प्रदेश भर में आपराधिक घटनाओं में 70% प्रतिशत की गिरावट आई है। दावा किया कि योगी राज के दौरान प्रदेश में लूट की घटनाओं में 69%, हत्या में 30%, बलवा में 33% तथा दहेज हत्या में 22.5% की कमी दर्ज की गई। दंगों को प्रदेश से खत्म करने का काम यूपी की योगी सरकार ने ही किया।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को सहारनपुर के पुवांरका में मां शाकंभरी देवी राजकीय विश्वविद्यालय का शिलान्यास किया। इस दौरान केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा और अन्य भी मौजूद रहे।

अमित शाह के भाषण की मुख्य बातें

  • अमित शाह ने कहा कि मेरे लिए यह सौभाग्य की बात है कि इस पवित्र और ऐतिहासिक भूमि पर मां शाकंभरी देवी विश्वविद्यालय के शिलान्यास के लिए योगी जी ने मुझे आमंत्रित किया है।
  • उत्तर प्रदेश के क्राइम के आंकड़े देख लीजिए, पिछली सरकारों में यह चरम पर था।
  • पीएम मोदी ने अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण शुरू कराकर वादा पूरा किया है। तीन तलाक, 370 जैसे कई बड़े मुद्दे खत्म करके लोगों को साबित कर दिखाया है कि भाजपा सरकार में क्या कुछ हुआ है।
  • मौजूद लोगों से पूछा - इस बार भाजपा को 300 सीटें मिलेंगी या नहीं।
  • सड़कों की दूरी ही नहीं घटी बल्कि मोदी राज में लोगों के दिलों की दूरी भी कम हुई।
  • हमारी मां-बेटियों को पढ़ने के लिए बाहर जाने को मजबूर न होना पड़े, इसलिए विश्वविद्यालय की स्थापना की जा रही है।
  • योगी राज में प्रदेश में किसी की हिम्मत नहीं कि वह मां-बेटियों को छेड़ सके।
  • दिल्ली से सहारनपुर की दूरी 8 घंटे से घटकर तीन घंटे रह गई है।
  • पहले की सरकारों में पश्चिमी उत्तर प्रदेश में गन्ना मिलों को बंद कर उन्हें अपने चट्‌टों-बट्‌टों को बांट दिया गया। मोदी राज में सारे मामले की सीबीआई जांच कराकर दोषियों को उनके अंजाम तक पहुंचाया जा रहा है। गन्ना किसान भी राहत महसूस कर रहा है। अब तक 90 प्रतिशत गन्ना भुगतान हो चुका है।
  • मोदी-योगी सरकारों ने लोगों को माफिया राज से मुक्ति दिलाई। कड़े कानूनी प्रावधान कर हजारों करोड़ की सरकारी भूमि माफिया से मुक्त कराई। अब माफिया अपनी जान बचाते फिर रहे हैं। पहले यूपी में लोगों को पलायन कराते थे अब वह स्वयं पलायन कर रहे हैं।
  • योगी सरकार ने प्रदेश में अवैध कत्लखाने बंद करा दिए। गोहत्या पर पूरी तरह से अंकुश लग चुका है। प्रदेश में पूरी तरह से कानून का राज कायम है।

370 हटाने की बात कोई सोच भी नहीं सकाः शाह
केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि 70 साल से जम्मू-कश्मीर से जिस धारा-370 को हटाने की बात कोई सराकर सोच भी नहीं सकी। मोदी सरकार ने एक झटके में ही समाप्त कर दिया। उन्होंने कहा कि मुस्लिम बहनों को तीन तलाक से मुक्ति भी मोदी सरकार ने ही दिलाई। उन्होंने कहा कभी अखिलेश ने मंदिर निर्माण पर तंज कसा था। लेकिन मोदी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद भव्य मंदिर निर्माण की ओर कदम बढाया। मोदी राज में देश की अर्थनीति में सुधार हुआ। देश की सुरक्षा भी पहले से मजबूत हुई। पहले आतंकवादी सीमा पर देश की सीमा में हरकत कर चले जाते थे, लेकिन आज किसी कि हिम्मत ऐसा करने की नहीं रही।

सहारनपुर देहात सीट में दशकों का सूखा खत्म करने की तैयारी
तीन कृषि बिल वापस लेकर भाजपा ने यह तो साफ कर दिया कि वह किसानों को किसी भी सूरत में वोटर के रूप में खोना नहीं चाहते हैं। बसपा में पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के सिपहसालार रहे पूर्व विधायक जगपाल सिंह को भाजपा में शामिल कर बसपा को झटका देने का काम किया है।

हालांकि, भाजपा ने सहारनपुर देहात सीट में दशकों का सूखा खत्म करने की तैयारी की है। अभी यह साफ नहीं है कि उनको आगामी विधानसभा में टिकट मिलेगा या नहीं। वह अपने बेटे और बसपा के पूर्व जिलाध्यक्ष योगेश कुमार के लिए टिकट दिलाने के मूड में है।

2017 में 4 सीटों पर जीती थी भाजपा

भाजपा ने सहारनपुर देहात सीट में दशकों का सूखा खत्म करने की तैयारी की
भाजपा ने सहारनपुर देहात सीट में दशकों का सूखा खत्म करने की तैयारी की

सहारनपुर की सात विधानसभाओं में से 2017 में भाजपा के पाले में 4 सीट आई थी। देवबंद, गंगोह, रामपुर मनिहारान और नकुड़ भाजपा के प्रत्याशियों ने जीत हासिल की थी। सहारनपुर नगर में सपा, बेहट और सहारनपुर देहात में कांग्रेस ने विजय पताका फहराई थी। अब चुनावी माहौल में टिकट की आपाधापी में नेताओं ने फिर से पार्टियों में उछल-कूद शुरू कर दी है।

मुस्लिम मतदाता 1.30 लाख
सहारनपुर की हरोड़ा विधानसभा (वर्तमान में सहारनपुर देहात) सीट से 1996 में जीत हासिल कर बसपा सुप्रीमो मायावती पहली बार यूपी की मुख्यमंत्री बनी थी। मुख्यमंत्री बनने के बाद इस सीट से इस्तीफा दे दिया था। यह सीट मुस्लिम और दलित बाहुल्य सीट होने के कारण ही बसपा के जगपाल 4 बार विधायक बने।

यहां पर मुस्लिम मतदाता करीब 1.30 लाख और दलित करीब 85,000 हैं। 1.17 लाख मतदाता अन्य है। यही कारण है कि सहारनपुर देहात में सीट से चार बार विधायक रहे जगपाल सिंह के माध्यम से दलित और अन्य वोटरों का रिझाने का प्रयास किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...