सहारनपुर...विधायक के विरोध में भाजपा के कार्यकर्ता:भाजपा के पदाधिकारी बोले, MLA नहीं मानते पार्टी कार्यकर्ताओं की बात, केंद्रीय गृह मंत्री और सीएम को पत्र भेजकर टिकट न देने की मांग

सहारनपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पत्र भेजते भाजपा कार्यकर्ता - Dainik Bhaskar
पत्र भेजते भाजपा कार्यकर्ता

राजनीति में कोई किसी का सगा नहीं होता। जिसका साफ उदाहरण देवबंद में भाजपा कार्यकर्ताओं में देखा जा सकता है। भाजपा कार्यकर्ता अपनी ही पार्टी के विरोधी बन बैठे। भाजपा पदाधिकारियों ने गृह मंत्री अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भाजपा के सिटिंग MLA को आगामी 2022 विधानसभा चुनाव में टिकट न देने की मांग कर दी है। जिससे साफ अंदाजा लगाया जा सकता है। भाजपा में अंतर कलह शुरू हो गई है।

लोकसभा सीट हारने का कारण विधायक
देवबंद में भाजपा के संयोजक राकेश राणा, बूथ अध्यक्ष कुलदीप सिंह राणा ने आरोप लगाया है कि देवबंद के सिटिंग MLA पार्टी के पदाधिकारियों के साथ मतभेद करते हैं और न ही कोई कार्य कराते हैं। यहीं कारण है कि 2019 के उनके कारण सहारनपुर में लोकसभा की सीट नहीं मिल पाई। उन्होंने कहा कि पार्टी को आगामी 2022 के विधानसभा चुनाव नुकसान उठाना पड़ सकता है। भाजपा कार्यकर्ताओं ने आगामी चुनाव में मौजूदा विधायक को टिकट न देने की मांग की है।

जिप चुनाव में नहीं सुनी एक भी बात
भाजपा कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया है कि जिला पंचायत चुनाव में भाजपा विधायक ने किसी भी पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं की नहीं मानी। आरोप है कि भाजपा कार्यकर्ताओं की सहमति के बिना वार्ड 27 में ऐसे व्यक्ति को टिकट दिया गया, जो कभी पार्टी से जुड़ा नहीं था। आरोप है कि भाजपा विधायक अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं के काम को तवज्जो नहीं देते हैं और वह विपक्ष की पार्टियों के कार्य कराते हैं। इस मौके पर सुशील त्यागी, राकेश राणा, कुलदीप सिंह राणा, वेदपाल कश्यप, शिवकुमार मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...