पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Saharanpur
  • Campaign To Make Ayushman Card Will Run In Saharanpur From July 26 To August 9, Health Workers Will Go To The Homes Of Families Without Cards And Register

सहारनपुर के लोगों के लिए अच्छी खबर:26 जुलाई से 9 अगस्त तक चलेगा आयुष्मान कार्ड बनाने का अभियान, बिना कार्ड वाले परिवारों के घर जाकर स्वाथ्यकर्मी कराएंगे रजिस्ट्रेशन

सहारनपुर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
स्वास्थ्य विभाग की लेटलतीफी के कारण अभी तक 5,02,050 लाख लाभार्थी योजना का लाभ लेने से वंचित हैं। - Dainik Bhaskar
स्वास्थ्य विभाग की लेटलतीफी के कारण अभी तक 5,02,050 लाख लाभार्थी योजना का लाभ लेने से वंचित हैं।

उत्तर प्रदेश में भले ही सहारनपुर जिला आयुष्मान योजना में 12वें स्थान से खिसककर 9वें पर आ गया हो, लेकिन जिले में अभी भी गोल्डन कार्ड के मामले में पिछड़ रहा है। जिले में 6 लाख 85 हजार 550 यानी 13,7110 लाभार्थी परिवार रजिस्टर्ड हैं। जिनमें 1,15,023 आयुष्मान योजना और 22,087 मुख्यमंत्री जन अरोग्य अभियान के लाभार्थी हैं।

लेकिन स्वास्थ्य विभाग की लेटलतीफी के कारण अभी तक 5,02,050 लाख लाभार्थी योजना का लाभ लेने से वंचित हैं। 65,500 ऐसे परिवार है जिनके सिर्फ एक सदस्य का गोल्डन कार्ड बना है। ऐसे में लोगों को जागरूक करने और गोल्डन कार्ड बनाने के लिए 26 जुलाई से 9 अगस्त तक 'आयुष्मान कार्ड विहीन परिवार' अभियान चलेगा।

39 महीने में बने 1.83 लाख गोल्डन कार्ड
लगभग 40 लाख की आबादी वाले जिले में 1293 गांव हैं। प्रधानमंत्री आयुष्मान योजना (PMJAY)के तहत ग्रामीण क्षेत्र में 87,386 व शहरी क्षेत्र में 49,724 परिवार आयुष्मान योजना में रजिस्टर्ड हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ ने मार्च 2019 में मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान (MMJAA) का शुभारंभ किया था। जिसके तहत 22,087 परिवारों को इसका लाभ दिया गया।

सरकारी से ज्यादा निजी अस्पतालों ने हुआ इलाज
जिले में 48 अस्पताल आयुष्मान योजना में इंपैनल्ड हैं। जिसमें 24 सरकारी व 24 निजी अस्पताल हैं। जिनमें 50 आयुष्मान मित्र कार्यरत हैं। निजी अस्पतालों में 468 मरीजों की ओपीडी हुई, जबकि 4949 मरीजों का इलाज भर्ती कर किया गया। निजी अस्पतालों को सरकार द्वारा 4544 मरीजों का भुगतान किया गया। जबकि सरकारी अस्पतालों में 143 ओपीडी हुईं और 2480 मरीजों का भर्ती कर इलाज कराया गया।

जिला अस्पताल, सीएचसी और पीएचसी को सरकार ने 1852 मरीजों को भुगतान किया है। यानी कुल 631 मरीजों को ओपीडी व 7429 का इलाज अस्पतालों में भर्ती कर कराया गया। जिनमें से 6396 मरीजों को भुगतान सरकार द्वारा किया गया। जबकि 1033 मरीजों को भुगतान अभी आना बाकी है।

आयुष्मान योजना में 6.87 करोड़ का हुआ भुगतान
आयुष्मान योजना के तहत कुल 7429 मरीजों का इलाज सरकारी व गैर सरकारी अस्पतालों द्वारा कराया गया। जिनमें से 6,396 मरीजों को 6 करोड़ 87 लाख 98 हजार 43 रुपए का भुगतान सरकार अस्पतालों को कर चुकी है।
सीएमओ डॉ. संजीव मांगलिक का कहना है कि लोगों को आयुष्मान कार्ड बनवाने को 26 जुलाई से 9 अगस्त तक आयुष्मान कार्ड विहीन परिवारों के लिए घर घर जाकर कार्ड बनाए जाएंगे।

खबरें और भी हैं...