सहारनपुर में मेडिकल के तीन छात्रों सहित 26 पॉजिटिव मिले:NCR, उत्तराखंड और हरियाणा से हो रही कोरोना की एंट्री, ओमिक्रॉन से फिलहाल राहत

सहारनपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो

सहारनपुर में कोरोना मरीजों की रफ्तार प्रतिदिन तेज होती जा रही है। मंगलवार को मेडिकल कॉलेज के MBBS के तीन छात्रों सहित 26 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिले में एक्टिव केसों की संख्या 60 हो गई है। कुल संक्रमितों की संख्या 69 हो गई है और नौ संक्रमित मरीज ठीक हो चुके हैं।

लगातार बढ़ रही मरीजों की संख्या

पिछले सप्ताह से कोरोना संक्रमण की रफ्तार बढ़नी शुरु हुई है। मंगलवार को एक्टिव मरीजों की संख्या 60 पहुंच गई। मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग ने 26 नए मरीजों की पुष्टि की है। इसके साथ ही जनपद में कोरोना के सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 69 पहुंच गई। सोमवार को 4537 सैंपल की जांच की गई। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार सभी संक्रमितों को होम आइसोलेट किया जा रहा है।

10 की हिस्ट्री निकली कांट्रैक्ट ट्रेसिंग में

मंगलवार को 26 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की पुष्टि हुई है। इनमें से 10 लोग पॉजिटिव मरीजों के कांटेक्ट में आए हैं। वहीं, तीन मेडिकल कॉलेज के छात्र हैं। जबकि दो लोग बाहर से आए हैं। वहीं, 11 लोगों की हिस्ट्री खंगाली जा रही है।

बाहरी राज्यों से घुसा कोरोना

अभी तक कोरोना के मरीजों में ज्यादा कांट्रैक्ट में आए हुए लोग हैं। ये वही लोग हैं, जो बाहरी राज्यों से आए हैं या फिर वहां रहते हैं। सोमवार को भी सात लोगों की कोरोना पॉजिटिव की रिपोर्ट आई थी। इनमें से तीन लोग दिल्ली से लौटें हैं, जिसमें छह साल की बच्ची भी है। यह परिवार दिल्ली में रहता है। परिवार का मुखिया के दिल्ली में संक्रमित होने की बाद वह देवबंद आ गए।

परिवार के आने की सूचना स्वास्थ्य विभाग को मिली, तो सभी के सैंपल कराए गए। इनमें से एक ही परिवार के तीन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। जबकि कुछ दिन पहले एक ही परिवार के सात लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। जिसमें वृद्ध का बेटा उत्तराखंड के देहरादून में काम करता है।

NCR से कैसे भागा पॉजिटिव मरीज का परिवार

दिल्ली में एक व्यक्ति के पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद पूरा परिवार दिल्ली से सहारनपुर के देवबंद में कैसे पहुंच गया? इस पर दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग पर सवालिया निशान खड़ा होता है। दरअसल, कोई व्यक्ति पॉजिटिव आता है, तो उसके परिवार सहित उसी जगह पर टेस्ट होते हैं और घर के आस-पास के लोगों के भी। गली या घर को कंटेनमेंट जोन बना दिया जाता है। ऐसे में इस परिवार पर कार्रवाई भी हो सकती है।

दूसरे राज्य से आ रहा कोरोना

दिल्ली, हरियाणा और उत्तराखंड में ओमिक्रॉन के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। ऐसे में यहां से आने और जाने वाले लोगों से खतरा बना हुआ है। हैरानी की बात यह है कि जिला प्रशासन द्वारा ऐसे लोगों पर निगरानी और सख्ती की बात की जा रही है। मगर, किसी भी प्रकार की सख्ती दिखाई नहीं दे रही है। सहारनपुर से करीब 35 किलोमीटर दूर यमुनानगर में ओमिक्रॉन के कई मरीज हैं।

ऐसे में लोग लगातार यहां पर अपने काम के लिए डेली अप-डाउन कर रहे हैं। इसी प्रकार दिल्ली और उत्तराखंड का हाल है। सीएमओ डा.संजीव मांगलिक का कहना है कि बाहर से आने-जाने वालों पर नजर रखीं जा रही है। मंगलवार को 26 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिनमें से दो बाहरी राज्यों और 10 लोग पॉजिटिव के कांटेक्ट में आए हैं।

खबरें और भी हैं...