कोर्ट का आदेश लेकर ससुराल पहुंची युवती:घंटों तक पार्षद पति ने अपनी पत्नी को घर में घुसने नहीं दिया, पुलिस ने पहुंचकर युवती को वापस भेजा

सहारनपुर2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो

सहारनपुर के थाना कुतुबशेर के शारदा नगर के एक पार्षद का अपनी पत्नी के साथ विवाद चल रहा है। यह विवाद शुक्रवार को सड़क पर आ गया। पार्षद की पत्नी अपनी ससुराल में रहने के लिए पार्षद के घर पहुंच गई, लेकिन पार्षद ने उसे घर में घुसने नहीं दिया। जिसके बाद महिला ने पुलिस को बुला लिया। हालांकि देर शाम पुलिस ने पत्नी को समझाकर शांत किया और आश्वासन देकर उसे उसके मायके में भेज दिया।

2016 में हुई थी शादी
शारदानगर मोहल्ले के पार्षद रमन चौधरी की शादी 2016 में रुड़की के गांव कुंजा बहादरपुरा की कनिष्का चौधरी के साथ हुई थी। शादी के कुछ साल बाद ही दोनों के बीच विवाद हो गया। कनिष्का का आरोप है कि उसे मारपीट कर घर से निकाल दिया गया। उसे अतिरिक्त दहेज के लिए प्रताड़ित किया जाता था। उसने अपनी ससुराल में रहने के लिए काफी प्रयास किया, लेकिन बाद में रुड़की कोर्ट में महिला ने अपने पति के खिलाफ वाद दायर कर दिया।

कोर्ट का आदेश लेकर ससुराल पहुंची कनिष्का
कनिष्का का कहना है कि अदालत ने कुछ दिन पहले आदेश दिया है कि यदि पत्नी अपनी ससुराल में रहना चाहती है तो वह रह सकती है। इसी आदेश के साथ गुरुवार को कनिष्का अपनी ससुराल पहुंची। उसने अपनी ससुराल में रहने की जिद की, लेकिन पार्षद ने उसे घर में प्रवेश नहीं दिया। जिसके बाद थाना कुतुबशेर इंस्पेक्टर फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए और युवती को समझाकर वापस मायके भेज दिया।

पार्षद रमन चौधरी का कहना है कि अदालत से इस तरह का कोई आदेश नहीं कि घर में प्रवेश दिया जाए। उन्होंने बताया कि तलाक का केस कोर्ट में चल रहा है। अदालत के फैसले का इंतजार है।

इंस्पेक्टर पीयूष दीक्षित का कहना है कि युवती कोर्ट का आदेश लेकर आई थी और अपने ससुराल में जाने की जिद पर अड़ी हुई थी। लेकिन ससुराल पक्ष के लोग उसे घर में घुसने नहीं दे रहे हैं। ऐसे में युवती को समझाकर वापस भेज दिया गया है।