पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सहारनपुर के अस्पताल में 3 साल के बच्चे की मौत:पिता बोले-फोन पर बेटे के बीमार होने की सूचना मिली थी, हॉस्पिटल जाकर देखा तो लावारिस हालत में पड़ा था शव; ससुरालियों पर हत्या का शक

सहारनपुर5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
एसपी देहात अतुल शर्मा ने कहा कि उनके पास कोई शिकायत नहीं आई है, लेकिन शिकायत मिलने के बाद मामले की जांच कराई जाएगी। - Dainik Bhaskar
एसपी देहात अतुल शर्मा ने कहा कि उनके पास कोई शिकायत नहीं आई है, लेकिन शिकायत मिलने के बाद मामले की जांच कराई जाएगी।

सहारनपुर के थाना नानौता के रहने वाले एक तीन साल के बच्चे की 11 सितंबर को मेरठ के अस्पताल में संदिग्ध हालत में मौत हो गई थी। बच्चे के पिता और दादा हरियाणा में रहते हैं। उन्होंने रविवार को बच्चे के मामा, नानी और परिवार के अन्य सदस्यों पर हत्या करने का आरोप लगाते हुए रविवार को एसएसपी डाक्टर एस चनप्पा को शिकायती पत्र सौंपा। इस मामले में जांच और कार्रवाई की मांग की। जिसके बाद SSP ने नानौता थाना प्रभारी को इस मामले में जांच के आदेश जारी कर दिए।

बेटा-बेटी को साथ ले आई थी महिला

सदर बाजार थाना क्षेत्र के शिव विहार के रहने वाले मोहन सिंह ने बताया कि उनकी ससुराल हरियाणा के करनाल जिले के गांव सालवन में है। मोहन सिंह के साले मेहर सिंह के बेटे भूपेंद्र उर्फ जोनी की शादी नानौता की रहने वाली एक युवती के साथ हुई थी। उसकी एक बेटा और बेटी हैं। पति-पत्नी के बीच हुए मनमुटाव के कारण पत्नी नानौता में आ गई और अपने तीन साल के बेटे नोनू को अपने साथ ले आई। जिसके बाद से ये पति-पत्नी के बीच विवाद शुरू हो गया है। ये मामला अब कोर्ट में चल रहा है।

अस्पताल में बच्चे के साथ घर का कोई भी सदस्य नहीं था मौजूद

रविवार को मोहन सिंह ने SSP से मिलकर बताया कि उनके पास 10 सितंबर को फोन कर बताया गया था कि बच्चा नोनू बीमार है। जिसे जिला अस्पताल सहारनपुर से मेरठ रेफर कर दिया गया है। जब मोहन और अन्य लोग मेरठ अस्पताल में पहुंचे तो नोनू का शव पड़ा हुआ था। उसके पास कोई नहीं था। सालवन से आए नोनू के दादा मेहर सिंह ने लिखापढ़ी में शव लिया और हरियाणा ले जाकर उसका अंतिम संस्कार कराया।

मोहन और मेहर सिंह का आरोप है कि नोनू के मुंह से खून निकल रहा था। उन्होंने एसएसपी से बच्चे की मौत की जांच की मांग की है। बच्चे के साथ कुछ तो हुआ है, जो बच्चे को छोड़कर उसकी मां, नानी, मामा आदि लोग छोड़कर भाग गए।

वहीं एसपी देहात अतुल शर्मा ने कहा कि इस मामले की उनके पास कोई शिकायत नहीं आई है, लेकिन शिकायत मिलने के बाद मामले की जांच कराई जाएगी।

खबरें और भी हैं...