• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Saharanpur
  • Divisional Commissioner Said; No One Should Be Deprived Of The Mainstream Of The Society In Saharanpur Division, Instructed The Officials To Visit The Areas And Identify Such Children.

मलिन बस्ती के 62 बच्चों को मिला शिक्षा का अधिकार:मंडलायुक्त बोले- सहारनपुर मंडल में समाज की मुख्यधारा से वंचित न रहे कोई, अधिकारियों से क्षेत्रों भ्रमण कर बच्चों को चिन्हित करने के निर्देश

सहारनपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
स्कूल में बच्चों के साथ मंडलायुक्त लोकेश एम। - Dainik Bhaskar
स्कूल में बच्चों के साथ मंडलायुक्त लोकेश एम।

मंडलायुक्त लोकेश एम. की पहल पर सहारनपुर में झुग्गी-झोपड़ी व मलिन बस्ती में रहने वाले 62 बच्चों को चिन्हित कर खलासी लाइन स्थित कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय में नामांकन कराया गया। नामांकन के वक्त सभी बच्चों को स्कूल में बुलाया गया। मंडलायुक्त ने बच्चों को शिक्षा से संबंधित सामग्री और ड्रेस भी वितरित की।

बच्चों को शिक्षा संबंधी सामग्री वितरित करते मंडलायुक्त
बच्चों को शिक्षा संबंधी सामग्री वितरित करते मंडलायुक्त

शिक्षा से वंचित बच्चों की सूचना देने की अपील
मंडलायुक्त ने अधिकारियों को मलिन बस्तियों, झुग्गी, झोपड़ियों तथा भट्टों पर रहने वाले बच्चों को चिन्हित कर तत्काल उनका विद्यालयों और आगंनबाडी केंद्रों पर नामांकन कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोई भी बच्चा अनावश्यक घूमते हुए न पाया जाए। उन्होंने आम जनता से भी आह्वान किया कि यदि बच्चे शिक्षा से वंचित है और सड़कों और गलियों में अनावश्यक रूप से घूमते मिले तो उनकी सूचना मंडलायुक्त तथा संबंधित जनपद के जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी या जिला कार्यक्रम अधिकारी को दें।

बच्चों से बात करते मंडलायुक्त
बच्चों से बात करते मंडलायुक्त

25 अगस्त को औचक किया था निरीक्षण
मंडलायुक्त ने 25 अगस्त को शहर के औचक निरीक्षण के दौरान बच्चों को कूडे़ के ढे़र में बच्चे खेलते देखा था तो उन्होंने कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए तत्काल जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी तथा जिला कार्यक्रम अधिकारी को संबंधित क्षेत्र का सर्वे कर सभी बच्चों को आंगनबाड़ी केंद्रों तथा प्राथमिक विद्यालय में प्रवेश दिलाने के निर्देश दिए थे।

शिक्षा संबंधित सामग्री की वितरित
शिक्षा विभाग ने छह साल से ऊपर 36 बच्चों को उच्च प्राथमिक विद्यालचय खलासी लाइन में प्रवेश कराकर यूनिफार्म, जूते, मौजे, पाठ्य पुस्तक, स्कूल बैग आदि वितरित किए। 03 से 06 साल तक के 26 बच्चों को कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय स्थित आंगनबाड़ी केंद्र में प्रवेश दिलाया। बच्चों को केले, टॉफी, बिस्किट, खाना आदि वितरित किए और बच्चों से जानकारी भी हासिल की।

शिक्षा से वंचित बच्चों को चिन्हित करने के निर्देश
मंडलायुक्त ने मंडल के तीनों जनपदों के बेसिक शिक्षा अधिकारी तथा जिला कार्यक्रम अधिकारी को क्षेत्र में जाकर ऐसे बच्चों को चिन्हित करने के निर्देश दिए है जो शिक्षा से वंचित है। उन्होंने कहा कि कोई भी बच्चा सरकार की योजनाओं से वंचित न रहे। बच्चों को शिक्षित कर समाज की मुख्य धारा से जोड़ा जाए। उन्होंने कहा कि बस्तियों, झुग्गी, झोपड़ियों तथा भट्‌टों पर रहने वाले बच्चों का अधिकारी समय-समय पर सर्वे कराते रहे। किसी भी बच्चे की एक भी दिन की पढाई नहीं छूटनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी तथा जिला कार्यक्रम अधिकारी पढ़ाई के साथ-साथ सरकार की अन्य योजनाओं का बच्चों को लाभ दिलाया जाए। इस अवसर पर नगर आयुक्त ज्ञानेंद्र सिंह, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अम्बरीश कुमार, जिला कार्यक्रम अधिकारी आशा त्रिपाठी तथा संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...