सहारनपुर में पं.गोविंद बल्लभ पंत की जयंती मनाई:डीएम बोले;राष्ट्रीय चेतना के प्रबल समर्थक पंत ने आर्थिक विषमता को मिटाने के सार्थक प्रयास किये

सहारनपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पं.गोविंद बल्लभ पंत के चित्र प� - Dainik Bhaskar
पं.गोविंद बल्लभ पंत के चित्र प�

सहारनपुर में कलेक्ट्रेट सभागार में स्व.पं.गोविंद बल्लभ पंत की जयंती मनाई गई। डीएम अखिलेश सिंह ने उनके चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित किया। डीएम ने कहा कि भारत रत्न महान स्वतंत्रता सेनानी, कुशल प्रशासक, सफल वक्ता, तर्क के धनी, उत्तर प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री, पं.गोविंद बल्लभ पंत ने प्रबुद्ध वर्ग के प्रबल मार्गदर्शक रहें। उन्होंने तमाम मंचों से मानवतावादी निष्कर्षों को प्रसारित किया। राष्ट्रीय चेतना के प्रबल समर्थक पंत ने गरीबों की पीड़ा बांटी और आर्थिक विषमता मिटाने के लिए सार्थक प्रयास किए। उन्होंने कहा कि पंत जी ने भाषाई आधार पर राज्यों का पुनर्गठन कर हिंदी को राष्ट्र भाषा का दर्जा दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की थी।
देश को दी नई दिशा
डीएम ने कहा कि पं.गोविंद बल्लभ पंत ने देश को नई दिशा देने के साथ ही कुली बेगार प्रथा, कृषि सुधारों तथा जमींदारी उन्मूलन के लिए निर्णायक संघर्ष कर समाज में व्याप्त बुराईयों को दूर करने में अपनी अहम भूमिका निभाई। उन्होंने कहा कि पं.गोविंद बल्लभ पंत वर्ष 1937 में संयुक्त प्रांत के प्रथम प्रधानमंत्री बने और 1946 में उत्तर प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री बने।
आधुनिक भारत निर्माण में रही अहम भूमिका
जिलाधिकारी ने कहा कि पं.गोविंद बल्लभ पंत ने उत्तर प्रदेश को एक ऐसा नेतृत्व देने की दिशा में कार्य किया जो सद्भाव और संतुलन पर चलें। उन्होंने केंद्रीय गृहमंत्री के रूप में हिंदी को राजभाषा के रूप में प्रतिष्ठित कराने तथा उत्तर प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री एवं देश के गृहमंत्री रहते हुए आधुनिक भारत के निर्माण में भी उनकी अहम भूमिका रही। उनका संघर्षशील एवं प्रेरणादायी नेतृत्व देशवासियों के लिए सदा प्रेरणा का स्रोत रहेगा। सन 1957 में गणतंत्र दिवस पर महान देशभक्त, कुशल प्रशासक, सफल वक्ता, तर्क के धनी एवं उदारमना पंत को भारत की सर्वोच्च उपाधि भारतरत्न से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) डा.अर्चना द्विवेदी, अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) रजनीश मिश्रा, नगर मजिस्ट्रेट सुरेश कुमार सोनी, डिप्टी कलेक्टर एसएन शर्मा आदि मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...