IOCL तेल चोरी में मुजफ्फरनगर के DSO का ड्राइवर गिरफ्तार:चोरों के गैंग से हर महीने 30 हजार रुपए लेता था, छापा पड़ने से बचाता था

सहारनपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पकड़े गए ड्राइवर की पहचान श्रीराम कनौजिया के रूप में हुई है।- प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
पकड़े गए ड्राइवर की पहचान श्रीराम कनौजिया के रूप में हुई है।- प्रतीकात्मक फोटो।

इंडियन आयल कार्पोरेशन लिमिटेड (आइओसीएल) का पेट्रोल-डीजल चोरी प्रकरण में सहारनपुर एसओजी ने मुजफ्फरनगर जिले के डीएसओ के ड्राइवर को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए ड्राइवर की पहचान श्रीराम कनौजिया के रूप में हुई है। आरोप है कि उसकी मदद से तेल माफियाओं का कारोबार चल रहा था। वह तेल चोरी करके बेचने वालों गिरोह से हर महीने 30 हजार रुपए लेता था। आरोपी से पूछताछ की जा रही है।

पेट्रोल पंप मालिक को चोरी का तेल बेचते थे
सहारनपुर की थाना सरसावा पुलिस और एसओजी टीम ने रविवार को 8 तेल चोर माफियाओं को गिरफ्तार किया था। उन सभी पर आरोप है कि वह IOCL का पेट्रोल और डीजल पाइप लाइन ब्रेक कर तेल चोरी करते थे। पकड़े गए आरोपियों ने पुलिस पूछताछ में बताया कि वह मुजफ्फरनगर के भोपा के पेट्रोल पंप मालिक उदित कुमार को तेल बेचते थे।

हालांकि पुलिस ने 8 आरोपियों के साथ पेट्रोल पंप मालिक को भी गिरफ्तार कर लिया है। DSO के चालक श्रीराम कनौजिया हर महीने उनसे 30 हजार रुपए लेता था। जिसके चलते डीएसओ की टीम उदित के पेट्रोल पंप पर कभी भी छापा नहीं मारती थी।

कई नाम और आएंगे सामने

पेट्रोल-डीजल चोरी के मामले में मुजफ्फरनगर के DSO के चालक की गिरफ्तारी के बाद कई सवाल खड़े हो गए हैं। आखिर एक ड्राइवर जब रिश्वत ले रहा था तो बाकी स्टाफ क्या कर रहा था। वह छापा क्यों नहीं मारता था। पुलिस सूत्रों की माने तो सभी कर्मचारियों और अधिकारियों की सहारनपुर पुलिस ने गोपनीय जांच शुरू कर दी है। जल्द ही कई और जेल जा सकते हैं।

इनकी हुई थी गिरफ्तारी

सहारनपुर के सरसावा और एसओजी की टीम ने रविवार को शुभम, संदीप, गुरमीत उर्फ काला, अजय, भूपेंद्र सिंह, शुभम, अजीत, उदित कुमार को गिरफ्तार किया था। इन सभी पर पेट्रोल-डीजल चोरी करने का आरोप है।

खबरें और भी हैं...