सहारनपुर में पटाखा फैक्ट्री में धमाकों के बाद लगी आग:4 लोगों की मौत; बिखरे मिले मृतकों के शरीर के अंग, दूर तक सुने गए धमाके

सहारनपुर5 महीने पहले

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में शनिवार शाम एक पटाखा फैक्ट्री में भीषण आग लग गई। बारूद में ब्लास्ट होने से आग ने तांडव मचा दिया। इस दर्दनाक हादसे में फैक्ट्री मालिक राहुल समेत चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। धमाका इतना तेज था कि इसकी आवाज करीब 5 किलोमीटर दूर तक सुनाई दी।

धमाकों की वजह से शवों के हिस्से 500 मीटर दूर तक बिखरे मिले। एक मजदूर की रीढ़ की हड्‌डी पुलिस को आधे किमी दूर खेत में मिली। पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम ने 3 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। 6 से अधिक घायलों का अस्पताल में इलाज में चल रहा है। 3 से ज्यादा मजदूर लापता बताए जा रहे हैं। रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद अब सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है, ताकि मलबे में दबी लाशों को ढूंढा जा सके।

खेत में चल रही थी फैक्ट्री
ये फैक्ट्री अंबाला रोड पर सरसावा और सुराणा के बीच स्थित है। फैक्ट्री खेत में बनी हुई थी। शनिवार को रोजाना की तरह करीब 10 कर्मचारी यहां काम कर रहे थे। अचानक फैक्ट्री के एक कोने में आग लग गई। इससे पहले कि मजदूर उसको बुझा पाते। आग बारुद तक पहुंच गई। तेज धमाकों के साथ आग फैल गई। जिससे मजदूरों को बाहर भागने का मौका तक नहीं मिला।

आग के गुबार 3 किमी दूर से देखे गए। सूचना पर फायर ब्रिगेड की टीम मौके पर पहुंची। लेकिन आग इतनी भीषण थी कि रेस्क्यू ठीक से नहीं हो सका।

अग्निशमन और पुलिस विभाग देर शाम तक बचाव कार्य में जुटा रहा।
अग्निशमन और पुलिस विभाग देर शाम तक बचाव कार्य में जुटा रहा।

जांच के बाद पता चलेगा आग कैसे लगी
बचाव कार्य के बीच अंधेरा होने से जनरेट मंगवाया गया है। आग लगने के सटीक कारण जांच के बाद ही अग्निशमन विभाग बता पाएगा। इसलिए सभी पहलुओं की जांच हो रही है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के मुताबिक मरने वालों की संख्या में इजाफा हो सकता है। नुकसान का भी आकलन किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि पटाखा फैक्ट्री का लाइसेंस जारी किया गया था।

डीएम अखिलेश सिंह ने सीएमओ से बात की। ताकि घायलों को बेहतर इलाज मिल सके। कुछ घायलों को मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। गंभीर हालत वाले कर्मचारियों को हायर सेंटर रेफर किया जा रहा है।

सलेमपुर के अमित और वर्द्धन को ढूंढा जा रहा
इस हादसे में मरने वालों में 3 लोगों की पहचान हो गई है। इसमें सलेमपुर के राहुल, बलवंतपुर के सागर सैनी और बलवंतपुर के कार्तिक सैनी शामिल हैं। जबकि घायलों में सलेमपुर के वंश का नाम सामने आया है। इसके अलावा हादसे के बाद सलेमपुर के अमित और वर्द्धन लापता चल रहे हैं। उन्हें ढूंढा जा रहा है।

सीएम योगी ने जताया दुख
वहीं सीएम योगी ने दुर्घटना में मृत्यु पर गहरा शोक प्रकट किया है। सीएम ने शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की। मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन के अधिकारियों को घटनास्थल पर पहुंचकर अंदर फंसे लोगों को सकुशल निकालने और घायलों का सही इलाज कराने के निर्देश दिए हैं।