पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सहारनपुर में 20 हजार में लिंग टेस्टिंग:हरियाणा स्वास्थ्य विभाग की टीम ने अवैध अल्ट्रासाउंड पर की छापेमारी, आशा कर्मी लेकर आती थी ग्राहक; पति-पत्नी समेत 4 गिरफ्तार

सहारनपुर25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शामली के झिंझाना की एक आशा कार्यकर्ता हरियाणा के ग्राहकों को लेकर आती थी। - Dainik Bhaskar
शामली के झिंझाना की एक आशा कार्यकर्ता हरियाणा के ग्राहकों को लेकर आती थी।

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में एक मकान में अवैध रूप से लिंग टेस्टिंग का खेल चल रहा है। हरियाणा स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मकान में संचालित अवैध अल्ट्रासाउंड सेंटर पर छापा मारा। जांच मशीन और दो कंप्यूटर बरामद कर दो महिलाओं समेत चार लोगों को हिरासत में लिया। स्थानीय स्वास्थ्य विभाग को केंद्र संचालन की भनक तक नहीं थी।

हरियाणा के करनाल जिला अस्पताल के डिप्टी सिविल सर्जन डॉ. नरेश शर्मा ने बताया कि सहारनपुर के शिवालिक विहार में अवैध अल्ट्रासाउंड केंद्र संचालन की सूचना मिल रही थी। यहां अधिकतर हरियाणा की महिलाओं की लिंग जांच की जा रही है। गोपनीय जांच में पता चला कि शामली के झिंझाना की एक आशा कार्यकर्ता हरियाणा के ग्राहकों को लेकर आती थी।

दरअसल, सिविल सर्जन ने हरियाणा के करनाल की एक महिला को लिंग जांच कराने मंगलवार को झिंझाना की आशा कार्यकर्ता के पास भेजा। आशा महिला को साथ लेकर सदर बाजार थानाक्षेत्र के शिवालिक विहार पहुंची। इसके बाद हरियाणा स्वास्थ्य टीम स्थानीय स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को साथ लेकर संचालित अवैध अल्ट्रासाउंड सेंटर पर छापा मारा। यहां लिंग जांच मशीन और दो कंप्यूटर मिले। सभी सामान जब्त कर आरोपितों को सदर बाजार थाना पुलिस को सौंप दिया गया। सदर बाजार थाना प्रभारी हरेंद्र सिंह का कहना है कि अभी हरियाणा स्वास्थ्य विभाग की तहरीर नहीं मिली है।

पोर्टेबल लिंग जांच से होती थी जांच
करनाल के डिप्टी सिविल सर्जन डॉ.नरेश शर्मा ने बताया कि रामपुर मनिहारान निवासी प्रदीप कुमार और उसकी पत्नी रीना ने शिवालिक विहार में किराए पर मकान ले रखा था। उसी में गुपचुप तरीके से अवैध रूप से अल्ट्रासाउंट सेंटर चल रहे थो। गर्भवतियों के लिंग टेस्टिंग की जांच पोर्टेबल अल्ट्रासाउंट मशीन से प्रदीप करता था। दोनों के पास डाक्टरी की डिग्री भी नहीं है।

10 से 20 हजार में होती थी जांचें
डिप्टी सिविल सर्जन डा. नरेश शर्मा ने बताया कि हरियाणा की महिलाओं से लिंग जांच के 10-20 हजार रुपए लिए जाते थे। सहारनपुर और आसपास की महिलाओं की जांच पांच से 10 हजार रुपए में होती थी। एडवांस में ढाई हजार रुपए आशा वर्कर के माध्यम से दिए गए थे, जो बरामद कर लिए गए है। डिप्टी सिविल सर्जन डॉ.नरेश शर्मा ने बताया कि पूछताछ में सामने आय है कि वह प्रतिदिन चार से पांच गर्भवती महिला का लिंग परीक्षण करते थे।

खबरें और भी हैं...