प्लेयर्स को टॉयलेट में रखा खाना खिलाया, VIDEO:सहारनपुर स्टेडियम के स्वीमिंग पूल में खाना बना, टॉयलेट में रखा, इसे प्लेट में रखती दिखीं बच्चियां

सहारनपुर2 महीने पहले

यूपी के सहारनपुर में खेल अधिकारियों की बड़ी लापरवाही सामने आई है। सहारनपुर के भीमराव स्टेडियम में 300 महिला कबड्डी प्लेयर्स सब-जूनियर चैंपियनशिप में हिस्सा लेने पहुंचीं थीं। इनके लिए स्वीमिंग पूल में लंच बनाया गया और उसे टॉयलेट में रख दिया गया। इस घटना का वीडियो सामने आने के बाद खेल अधिकारी को सस्पेंड कर दिया गया है।

खेल अधिकारी से जब इस बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि बारिश की वजह से उन्हें यह कदम उठाना पड़ा। इस मामले पर केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि जिम्मेदार अधिकारी और ठेकेदार पर सख्त एक्शन लिया जाएगा। इसके अलावा ठेकेदार को ब्लैक लिस्ट किया जाएगा।

टॉयलेट की जमीन पर रखी पूड़ियां। इन्हें खाने से खिलाड़ियों ने इनकार कर दिया था।
टॉयलेट की जमीन पर रखी पूड़ियां। इन्हें खाने से खिलाड़ियों ने इनकार कर दिया था।

5 पॉइंट में पूरा मामला जानिए...

1. VIDEO में क्या दिख रहा है
टॉयलेट में खाना रखने का वीडियो 16 सितंबर का है। इसी दिन खिलाड़ियों को लंच दिया जाना था। वीडियो में दिख रहा है कि टॉयलेट में चावल और पूड़ियां रखी हैं। टॉयलेट सीट्स खुली हुई हैं और बच्चियां यहां से अपनी प्लेट में खाना उठाती दिख रही हैं। टॉयलेट में ही पूड़ी का आटा गूंथा गया है। तेल की कड़ाही भी यहीं रखी हुई दिख रही है। बाद में कुछ लोग इसे बाहर ले जाते दिखे। एक पेपर बिछाकर इस पर पूड़ियां रख दी गई थीं। इसके बाद स्टेडियम के बाहर का दृश्य दिखाई दे रहा है। यहां भी कई लड़कियां अपनी प्लेट में खाना रखे दिखाई दे रही हैं।

लंच की कच्ची सामग्री भी टॉयलेट में रखी गई। यहीं पर खाना तैयार किया गया था।
लंच की कच्ची सामग्री भी टॉयलेट में रखी गई। यहीं पर खाना तैयार किया गया था।

2. स्टेडियम में हुए इस इवेंट में कितने लोग जमा थे
यूपी कबड्डी संघ ने राज्य स्तरीय सब जूनियर बालिकाओं की प्रतियोगिता की मेजबानी सहारनपुर को दी थी। प्रतियोगिता 16 से 18 सितंबर तक स्पोर्ट्स स्टेडियम में होनी थी। इसमें शामिल होने के लिए 17 मंडलों और एक खेल छात्रावास की टीमें आई थीं। इसमें करीब 300 खिलाड़ी थे। खिलाड़ियों के ठहरने और खाने का इंतजाम स्टेडियम में ही किया गया था।

कुछ खिलाड़ियों के आपत्ति जताने के बाद सबने खाना खाने से मना कर दिया था।
कुछ खिलाड़ियों के आपत्ति जताने के बाद सबने खाना खाने से मना कर दिया था।

3. खिलाड़ियों ने किस तरह रिएक्ट किया
कुछ खिलाड़ियों को ये ठीक नहीं लगा तो उन्होंने खाना वापस रख दिया। खिलाड़ियों ने जब ये सब देखा तो वे भड़क गईं। उन्होंने लंच करने से इनकार कर दिया। खिलाड़ियों ने सब्जी, सलाद और रायता खाकर पेट भरा। सिर्फ खाने को ही टॉयलेट में नहीं रखा गया, बल्कि लंच वहां रखने के बाद भी स्टेडियम के दूसरे खिलाड़ी उस टॉयलेट का इस्तेमाल कर रहे थे।

भोजन पकाने के लिए 2 ही कारीगर लगाए गए। खिलाड़ियों को इंतजार करना पड़ा था।
भोजन पकाने के लिए 2 ही कारीगर लगाए गए। खिलाड़ियों को इंतजार करना पड़ा था।
चावल की क्वालिटी भी अच्छी नहीं थी। टेबल पर सिर्फ छोले, दाल और रायता ही लगाया गया।
चावल की क्वालिटी भी अच्छी नहीं थी। टेबल पर सिर्फ छोले, दाल और रायता ही लगाया गया।

4. स्टेडियम प्रबंधन की तैयारियों में क्या खामी थी
लंच स्वीमिंग पूल परिसर में तैयार किया गया। कच्चा राशन चेंजिंग रूम और टॉयलेट्स में रखा गया। बाहर ईंटों का चूल्हा बनाकर खाना तैयार किया गया। खिलाड़ियों को कच्चे चावल परोसे गए। कई खिलाड़ियों ने इसको खाने से मना कर दिया। इसके बाद चावल को टेबल से हटा लिया गया। ऐसे में टेबल पर केवल आलू की सब्जी, दाल और रायता ही रह गया था।

इस इवेंट में पूरे यूपी से खिलाड़ी पहुंचीं थीं। खाना तैयार करने को महज 2 कारीगर लगाए गए। ज्यादातर खिलाड़ियों के हिस्से में रोटी नहीं आ सकी। चावल खराब क्वालिटी के थे, जो पकाने में ठीक से गले नहीं।

5. खेल अधिकारी का क्या कहना है, एक्शन क्या लिया गया
खेल अधिकारी अनिमेष सक्सेना को सस्पेंड कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि स्टेडियम में निर्माण कार्य चल रहा है। जिस कारण यहां पर जगह नहीं थी। खुले में खाना बन रहा था। बारिश आने के कारण खाना टॉयलेट में रखा गया था। चावल भी खराब आ गए थे, जिसे वापस कराया गया। डीएम ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं। एडीएम रजनीश मिश्रा 3 दिन में जांच रिपोर्ट सौंपेंगे।

इस खबर को आपने पढ़ लिया है। अब इस पोल में शामिल हो सकते हैं।

खबरें और भी हैं...