सहारनपुर में गरीबों के पेट पर राशन माफियाओं का डाका:तहसील दिवस में गांव की महिलाएं राशन डिपो को निरस्त करने की मांग की, कार्डधारकों ने शपथ पत्र दिया

सहारनपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तहसील दिवस में शपथ पत्र देती म� - Dainik Bhaskar
तहसील दिवस में शपथ पत्र देती म�

सहारनपुर के गांव ककराला पीरमाजरा के ग्रामीण शनिवार को कलेक्ट्रेट में चल रहे तहसील दिवस में पहुंच गए और उन्होंने एसडीएम सदर अनिल कुमार से क्षेत्र के सरकारी राशन डिपो होल्डर की शिकायत की। कार्ड धारकों का आरोप है कि राशन डीलर उन्हें कई वर्षों से राशन नहीं दे रहा है। एसडीएम ने मामले की जांच कर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है।
दो यूनिट का राशन न देने का आरोप
गांव ककराला पीरमाजरा व राजपुरा के ग्रामीणों ने क्षेत्र के सरकारी गल्ला दुकान के संचालक सुशील कुमार के खिलाफ तहसील दिवस में प्रार्थना पत्र देकर कार्रवाई की मांग की है। ग्रामीणों ने राशन डीलर कार्ड धारकों को राशन नहीं देने और राशन कार्डों में दो यूनिट का राशन न देने का आरोप लगाया है। ग्रामीण नाजमा, शबनम, नसीमा, विमला, दीपा, प्रर्मिला व सुनीता का आरोप है कि राशन डीलर के पास जब कार्ड धारक राशन लेने जाते हैं, तो वह मारपीट करता है। ग्रामीण महिलाओं कहना है कि जब डीलर से अधिकारियों से शिकायत करने की बात की जाती है तो वह अधिकारियों से सेटिंग की बात करता है। ग्रामीणों ने राशन की दुकान को निरस्त करने की मांग की है।
माफियाओं का गरीबों के राशन पर डाका
ग्रामीणों का आरोप है कि जिले भर में राशन की सरकारी दुकानों से गरीबों का पेट काटकर राशन की काला बाजारी की जा रही है। इसमें राशन डिपो संचालक भी सम्मिलित है। आरोप है कि कई राशन डिपो संचालक आढ़त भी चला रहे हैं, जो कार्ड धारकों के यूनिट के हिस्से का राशन काटकर आढ़तों पर बेच रहे हैं। आरोप है कि इस संबंध में कोई भी अधिकारी संज्ञान नहीं ले रहा है।
आरोप निराधार
राशन डिपो संचालक सुशील कुमार का कहना है कि आरोप निराधार है। सभी कार्ड धारकों को समय से राशन दिया जाता है। ग्रामीण राजनीति के तहत शिकायत कर रहे हैं।

एसडीएम अनिल कुमार का कहना है कि ग्रामीणों ने राशन डिपो संचालक के खिलाफ शपथ पत्र दिया है। मामले की जांच कराई जाएगी।

खबरें और भी हैं...