THR प्लांट का विरोध कर रहे ग्रामीणों को धमकी:VIDEO में सहारनपुर की BDO बोलीं- "पक्की जाटनी हूं, अपने पर आ गई तो.."

सहारनपुर4 महीने पहले

सहारनपुर के पुवांरका में ग्रामीण टेक होम राशन प्लांट (THR प्लांट) बनाने का विरोध कर रहे थे। ग्रामीणों को समझाने के लिए खंड विकास अधिकारी (BDO) नीरू मलिक गागलहेड़ी के तिवाया के पंचायत घर में पहुंची थी। ग्रामीण किसी भी सूरत में प्लांट नहीं लगने देने के चेतावनी दे रहे थे।

ऐसे में BDO नीरू मलिक के स्वर बदल गए। वह बोलीं, “मैं पाकिस्तान से नहीं आई हूं, पास के जनपद शामली से ही हूं और पक्की जाटनी हूं। अगर मैं अपने पर आ गई तो…।” ग्रामीणों को धमकाने का BDO का यह वीडियो खूब शेयर किया जा रहा है।

पंचायत घर में टीएचआर प्लांट का झगड़ा
गागलहेड़ी के तिवाया में पंचायत घर प्रांगण में टीएचआर प्लांट का निर्माण कार्य शुरू करने आए ग्राम पंचायत सचिव गौरव शर्मा और मजदूरों को ग्रामीणों का विरोध झेलना पड़ा। ग्रामीणों ने कहा कि वह किसी सूरत में प्लांट नहीं लगने देंगे।

BDO नीरू मलिक ने ग्रामीणों को समझाया, लेकिन ग्रामीण प्लांट निर्माण की जगह पंचायत घर के साथ सचिवालय बनवाने की मांग पर अड़े रहे। इस दौरान बीडीओ की ग्रामीणों से खूब नोक-झोंक हुई।

विद्यार्थियों को होगी परेशानी
ग्रामीणों का कहना है कि पंचायत की अधिकांश भूमि कस्तूरबा गांधी आवासीय स्कूल में दी गई है। इसके ठीक बराबर में पंचायत भवन में मशीन लगने से विद्यार्थियों को पढ़ाई करने में परेशानी होगी। उनके लिए खेलकूद का स्थान नहीं बचेगा।

ग्राम सचिवालय का निर्माण पंचायत भवन में ही होना चाहिए। ग्रामीणों ने खंड विकास अधिकारी को पंचायत भवन में शादी समारोह की वीडियो भी दिखाया।

बच्चों के लिए बनेगी पंजीरी
प्रधान प्रतिनिधि सचिन कुमार का कहना है कि प्लांट में मशीन लगाकर स्वयं सहायता समूह के सदस्य पंजीरी आदि का निर्माण करेंगे। जमीन सरकार देगी, जहां प्लांट समूह लगाएंगे। ग्राम प्रधान और ग्रामीण इसका विरोध कर रहे हैं। ग्रामीणों का विरोध देखकर बीडीओ नीरू मलिक ने आपा खो दिया।

एक युवक को पहुंचा चुकी हैं जेल
कैलाशपुर के एक गांव में कोरोना वैक्सीनेशन हो रहा था। जब टीम सहित बीडीओ एक मुस्लिम परिवार के घर पहुंची थी, तो लड़के ने बीडीओ को नीरू मलिक को धक्का देकर कहा कि आप घर से बाहर जाओ। इनमें शिक्षा का अभाव है। फिर क्या था बीडीओ ने तांडव कर दिया। थाने में तहरीर दी। साथ आई टीम ने मुस्लिम परिवार के घर पर तोड़फोड़ भी की थी।

पुलिस ने घर की महिलाओं को उठा लिया था। आरोपी को बुलाने पर महिलाओं को छोड़ने की बात कही थी। जब युवक को सौंपा गया, तो महिलाओं को छोड़ा गया था। एक महिला पर भी मुकदमा दर्ज कर दिया गया था, जिसे बाद में जमानत करानी पड़ी थी।

खबरें और भी हैं...