UP के सहारनपुर से जैश का आतंकी गिरफ्तार:नूपुर शर्मा की हत्या का मिला था टास्क, फिदायीन हमले की तैयारी में था

सहारनपुर2 महीने पहले

उत्तरप्रदेश के सहारनपुर से जैश-ए-मोहम्मद (JEM) और तहरीक-ए-तालिबान, पाकिस्तान (TTP) से जुड़े संदिग्ध आतंकी मोहम्मद नदीम को गिरफ्तार किया गया है। यूपी ATS की पूछताछ में आतंकी नदीम ने बताया, "उसे जैश की ओर से बीजेपी से निलंबित नूपुर शर्मा की हत्या का टास्क दिया गया था।"

ATS का कहना है कि सूचना मिली थी कि गांव कुंडाकलां, थाना गंगोह सहारनपुर में एक युवक जेईएम और टीटीपी की विचारधारा से प्रभावित होकर फिदायीन हमले की तैयारी कर रहा है। जिसके बाद युवक को पकड़ा गया। पूछताछ के बाद उसके मोबाइल को जब्त कर लिया गया है। 8 अगस्त को ATS ने नदीम और उसके भाई तैमूर को पकड़कर ले गई थी। तैमूर भी अभी ATS की गिरफ्त में है।

जांच पड़ताल में पता चला है कि आतंकी की पाकिस्तान में दो बुआ रहती हैं। यह रिश्तेदारी की आड़ में ट्रेनिंग लेने पाकिस्तान जाना चाहता था। नदीम के पांच भाई और दो बहनें हैं। पढ़ा-लिखा नहीं है। पूरा परिवार किसान है।नदीम मूलरूप से सरसावा के गांव ढिक्का कला का रहने वाला है। उसके पास 50 बीघा कृषि भूमि है।

जैश-ए-मोहम्मद और तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान से जुड़ा आतंकी मोहम्मद नदीम।
जैश-ए-मोहम्मद और तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान से जुड़ा आतंकी मोहम्मद नदीम।

सीरिया और अफगानिस्तान जाने की थी प्लानिंग
UP ATS के अधिकारी ने बताया, "आतंकी मोहम्मद नदीम तहरीक-ए-तालिबान आतंकी संगठन के सैफुल्ला (पाकिस्तानी) से फिदायीन हमले की तैयारी करने के लिए सोशल मीडिया के जरिए ट्रेनिंग ले रहा था।"

उन्होंने बताया, "वह किसी सरकारी भवन या पुलिस परिसर पर फिदायीन हमला करने की फिराक में था। नदीम को अफगानिस्तान और पाकिस्तान में सक्रिय जैश-ए-मोहम्मद और तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान के आतंकवादी स्पेशल ट्रेनिंग देने के लिए पाकिस्तान बुला रहे थे। वह मिस्र के जरिए सीरिया और अफगानिस्तान जाने की भी योजना बना रहा था।"

मोबाइल से मिले अहम सुराग
UP ATS की पूछताछ में पता चला कि नदीम JEM और TTP की विचारधारा से प्रभावित होकर फिदायीन हमले की तैयारी कर रहा था। आतंकी के मोबाइल से एक PDF भी मिला है, जिसका शीर्षक एक्सप्लोसिव कोर्स फिदायी फोर्स (Explosive Course Fidae Force) है। उसके फोन से पाकिस्तान और अफगानिस्तान के JEM और TTP के आतंकियों के साथ चैट के अलावा वॉयस मैसेज भी मिले हैं।

12 मार्च को देवबंद के दारुल उलूम चौक के नजमी मंजिल हॉस्टल से यूपी एटीएस ने तीन युवकों को गिरफ्तार किया था।।
12 मार्च को देवबंद के दारुल उलूम चौक के नजमी मंजिल हॉस्टल से यूपी एटीएस ने तीन युवकों को गिरफ्तार किया था।।

3 दिन पहले आजमगढ़ से पकड़ा गया था आतंकी सबाउद्दीन
इससे पहले, आजमगढ़ से ATS ने ISIS आतंकी सबाउद्दीन आजमी को नौ अगस्त को गिरफ्तार किया था। ATS के मुताबिक, सबाउद्दीन की साजिश स्वतंत्रता दिवस के पहले धमाके की थी। सबाउद्दीन ISIS के रिक्रूटर से सीधे संपर्क में था। ATS ने उससे IED बनाने का सामान भी बरामद किया था।

31 जुलाई को देवबंद के एक छात्र को पकड़ा गया था
मदरसा छात्र फारूख देवबंद में रहकर लगातार आतंकी संगठन ISIS के वॉट्सऐप ग्रुप से जुड़ा था। वह आतंकियों से दिशा निर्देश ले रहा था। NIA और UP ATS की टीम 31 जुलाई को सुबह करीब 4 बजे देवबंद पहुंची थी। मदरसे में छापेमारी कर युवक फारूख को हिरासत में लिया था। देवबंद के मदरसे में रह रहे बेंगलुरु के छात्र फारूख से कुछ दस्तावेज भी बरामद किए गए हैं, जिन्हें जब्त कर लिया गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, फारूख कई भाषाओं का जानकार है। वह आतंकी साहित्य का अनुवाद किया करता था।

पहले भी यहां से कई आतंकी पकड़े गए

  • 14 मार्च 2021 को ATS ने एक संदिग्ध बांग्लादेशी को गिरफ्तार किया था। सहारनपुर के नदीम कॉलोनी से बांग्लादेशी तनवीर और उसके पिता उमर मोहम्मद को गिरफ्तार किया गया था।
  • थाना मंडी क्षेत्र से भी दो बांग्लादेशी भाइयों को गिरफ्तार किया गया था। जिन्हें हाल ही में अदालत सजा सुनाई है।
  • फरवरी 2019 में पांच बांग्लादेशियों को देवबंद से पकड़ा गया था।
  • 2016 में दिल्ली पुलिस की स्पेशल टीम ने सहारनपुर रेलवे स्टेशन के बाहर से हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी एजाज शेख को पकड़ा था।
  • साल 2010 में पाकिस्तानी जासूस शाहिद उर्फ इकबाल भट्टी को पटियाला पुलिस ने हकीकतनगर से गिरफ्तार किया। इकबाल भट्ट देवराज सहगल के नाम से यहां रह रहा था।
  • अयोध्या में हुए बम विस्फोट में सहारनपुर के तीतरो निवासी डॉक्टर इरफान को पकड़ा गया था।
  • साल 2001 में आतंकी गतिविधियों के चलते मुफ्ती इसरार को पकड़ा था।