जिला स्तरीय युग सृजेता युवा सम्मेलन:शांतिकुंज के केदारनाथ बोले, जल्दी सफलता की चाह में युवा अपना लेता गलत मार्ग, 10 हजार युवाओं को बनाएंगे आदर्शन युवा

सहारनपुर15 दिन पहले
कार्यक्रम में बोलते शांतिकुंज हरिद्वार के युवा प्रकोष्ठ प्रमुख केदारनाथ।

सहारनपुर के सरसावा में शांति कुंज हरिद्वार के तत्वावधान में चल रहे युग चेतना केंद्र में जिला स्तरीय युग सृजेता युवा सम्मेलन का आयोजन किया गया। सम्मेलन में युवाओं 'उठो बढ़ों, अपने को गढ़ों' के सत्संकल्प के साथ युग निर्माण में बढ़-चढ़कर भागीदारी का संकल्प लिया। युवा सम्मेलन का उद्देश्य समाज के भटके हुए युवाओं को सुधारने का प्रयास है।

सपने पूरा करने का प्रयास नहीं करते युवा

कार्यक्रम में लगी महिलाओं की भीड़
कार्यक्रम में लगी महिलाओं की भीड़

हरिद्वार शांतिकुंज के युवा प्रकोष्ठ प्रमुख केदारनाथ कहा,'हमारे अंदर संभावनाओं का अथाह भंडार है, किन्तु पूरी दुनिया में सिर्फ 3% लोग ही अपने लक्ष्य को प्राप्त कर पाते हैं। वे लोग न सिर्फ बड़े सपने देखते हैं, बल्कि उन्हें पूरा करने के लिए पूरी तन्मयता और एकाग्रता के साथ उन मार्गों पर चलते हैं। आज युवा दिग्भ्रमित है। फटाफट सफलता की चाह में वो कई मार्गों पर चलने का प्रयास करता है। नशाखोरी मैं पढ़कर अपने बहुमूल्य जीवन को खुद ही बर्बाद करने पर लगा हुआ है। युवाओं को चाहिए वह अपने जीवन में अनुशासन, संयम, एकाग्रता बनाकर पहले अपना लक्ष्य निर्धारित करें। उसके बाद अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए कठिन परिश्रम करें सफलता निश्चित रूप से मिलेगी।'

सही-गलत का पता लगने में हो जाती है देर

वक्ताओं के विचार सुनते लोग
वक्ताओं के विचार सुनते लोग

गायत्री शक्तिपीठ अयोध्या के संस्थापक राम केवल यादव ने कहा, 'जो युवा अपनी जवानी में बुराइयों से दूर हो जाते हैं उनका जीवन सुधर जाता है। जब तक उसे समझ आता है, उसका मार्ग गलत है जब तक बहुत देर हो जाती है। परिणामस्वरूप वो मानसिक अवसाद का शिकार होता है। ऐसे में गायत्री परिवार का युवा जागरण अभियान युवाओं को रचनात्मक, सृजनात्मक कार्यों से जोड़कर उनकी दिशा और दशा को सही कर राष्ट्र के नव निर्माण में अपना योगदान देने के लिए प्रेरित कर रहा है।'

युवाओं में गिरते संस्कारों पर जताई गई गहरी चिंता
युग चेतना केंद्र के ट्रस्टी संजय शर्मा ने कहा, 'आज युवा अपने संस्कार भूल ने लगा है, जिसके कारण आज घर में बूढ़े माता-पिता का मान सम्मान कम होने लगा है। उन्होंने युवाओं में गिरते संस्कारों पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि युवाओं को अपने माता-पिता व गुरुजनों का सम्मान करना चाहिए इनके द्वारा दिया गया आशीर्वाद उनके जीवन में अवश्य फलदाई होता है। उन्होंने युवाओं को गायत्री परिवार के व्यक्ति निर्माण, परिवार निर्माण, समाज निर्माण के मिशन को अपनाने का आवाहन किया। उन्होंने कहा कि आत्म निर्माण से ही राष्ट्र का नव निर्माण संभव है।'

शांतिकुंज 10 हजार युवाओं को बनाए का आदर्शन युवा
युग चेतना केंद्र के ट्रस्टी संजय शर्मा ने कहा, 'युग सृजेता श्रावस्ती में युवा सम्मेलन 6 से 9 नवंबर के बीच मनाया जाएगा। कार्यक्रम युवाओं के लिए दिव्य एवं ऐतिहासिक होगा, जो उत्तर प्रदेश में 10 हजार युवाओं को नई दिशा देकर देश का आदर्श युवा बनाएगा। उन्होंने बताया कि आज के कार्यक्रम में 400 से ज्यादा नये युवाओं ने अपना रजिस्ट्रेशन कराया है।