सावधान! किसी को न बेचे अपना पुराना मोबाइल:सहारनपुर के ग्रामीण और शहर इलाकों में पुराने मोबाइल खरीदने वाला गिरोह सक्रिय, कीपैड वाले फोन पर है इनकी नजर

सहारनपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो

यदि तुम्हारे घर में पुराने और बेकार मोबाइल है, तो वह किसी को मत दें। क्योंकि इसका गलत इस्तेमाल हो सकता है और पकड़ा मोबाइल स्वामी जाता है। ऐसा युवक ग्रामीण और शहर की गलियों में पहुंचकर मोबाइल के बदले कुछ सामान दे रहे हैं। मोबाइल खरीदने वाला युवक मोबाइल स्वामी को कोई भी प्रूफ नहीं देता, जिससे मोबाइल खरीदना या बेचना सिद्ध हो सके। एसएसपी आकाश तोमर ने ऐसे लोगों से सावधान रहने की अपील की है।

अपराधी बन सकते हैं आप
यदि आप अपने पुराने मोबाइल को अपने घर आने वाले व्यक्ति को बेचते हैं तो आपके मोबाइल से हजारों और लाखों की ठगी हो सकती है। ठगी का शिकार व्यक्ति आपके पुलिस में शिकायत करेगा और पुलिस मोबाइल नंबर के ईएमआई नंबर के माध्यम से आपके घर पहुंचेगी और गिरफ्तार तक कर सकती है। जब मोबाइल बेचने वाला कहेगा कि उसने तो बेच दिया था तो पुलिस प्रूफ मांगेगी जो बेचने वाले के पास नहीं होगा। जिस कारण आप फंस सकते हैं।

ऐसे होता है साइबर अपराध
देश में ज्यादातर साइबर ठग राजस्थान, छत्तीसगढ़, हरियाणा, मेवात, मुंबई और दिल्ली के होते हैं। जिनकी कॉल आपके मोबाइल पर भी आती होगी। सहारनपुर से हरियाणा के मेवात में मोबाइल जाने में देरी नहीं लगती है। इन मोबाइल में फर्जी पते का सिम लेकर लोगों को बैंक अधिकारी बनकर फोन किया जाता है। यहीं नहीं किसी भी अपराध में आपका मोबाइल प्रयोग हो सकता है। जिसके बाद भोले भाले लोग ठगों के झांसे में आ जाते है और अपना एकाउंट नंबर, एटीएम नंबर आदि जानकारी दे देते हैं। जिसके बाद ठगी हो जाती है। इसलिए लोग अंजान व्यक्ति को अपना एटीएम नंबर, एकाउंट नंबर, ओटीपी आदि जानकारी न दें।

एसएसपी आकाश तोमर का कहना है कि ऐसे एक गिरोह की सूचना मिल रही है। जिसकी जांच कराई जाएगी। गांव में कुछ युवक मोबाइल इस प्रकार खरीद रहे हैं। जल्द ही इन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ की जाएगी।