शामली के वॉन्डेट की सहारनपुर में तलाश:जमानत पर छूटे दोहरे हत्याकांड के आरोपी ने की एक और हत्या, शामली में रेप पीड़िता के पिता को मारी गोली; पुलिस ने सहारनपुर से मां-बहन को उठाया

रायबरेली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सहारनपुर में 18 अगस्त 2019 माधव नगर निवासी पत्रकार आशीष व उसके भाई आशुतोष की आरोपी सन्नी ने हत्या कर दी थी। - Dainik Bhaskar
सहारनपुर में 18 अगस्त 2019 माधव नगर निवासी पत्रकार आशीष व उसके भाई आशुतोष की आरोपी सन्नी ने हत्या कर दी थी।

सहारनपुर में 2019 में पत्रकार सहित 2 लोगों की हत्या के मामले में जेल से जमानत पर छूटे आरोपी ने एक और हत्या की वारदात अंजाम दी। शुक्रवार सुबह शामली के थाना झिंझाना में जेल से एक और हत्या की वारदात अंजाम दे दी। झिंझाना पुलिस आरोपी की तलाश में शनिवार देर शाम सहारनपुर पहुंची और आरोपी की मां और बहन को अपने साथ ले गई थी। हालांकि शामली पुलिस मामले में कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है।

शामली के थाना झिंझाना क्षेत्र के गांव म्यान निवासी किशन सैनी (50 वर्ष) की सहारनपुर के माधव नगर निवासी सन्नी पुत्र महिपाल ने अपने दो साथियों के साथ शुक्रवार सुबह गोली मारकर हत्या कर दी थी और मौके से फरार हो गया था। ग्रामीणों का कहना है कि मृतक किशन एक दशक एक बलात्कार के मामले में पैरवी कर रहा था। कुछ ही दिन में फैसला आने वाला था। मृतक किशन के दो बेटे हैं। पुलिस को अभी हत्या के कारणों का पता नहीं चला है। शनिवार की शाम को थाना झिंझाना पुलिस थाना कोतवाली नगर के माधव नगर में महिपाल के मकान पर पहुंची थी। पुलिस आरोपी सन्नी की मां बिमलेश और बहन वर्षा को पकड़कर ले गई है। हालांकि शामली एसपी सुकीर्ति माधव ने कोई बी जानकारी देने से मना कर दिया है।

2019 में सहारनपुर में दो लोगों की हत्या की थी
सहारनपुर में 18 अगस्त 2019 की सुबह थाना सिटी कोतवाली क्षेत्र के माधव नगर निवासी पत्रकार आशीष व उसके भाई आशुतोष की पड़ोस के महिपाल उसकी पत्नी बिमलेश और बेटी वर्षा व पुत्र सूरज, सन्नी एवं गौरव ने घर में घुसकर गोली मारकर हत्या कर दी थी। महिपाल अभी भी जेल में बंद है। जबकि उसकी पत्नी, बेटी और तीनों बेटों की जमानत हो गई है। जमानत से बाहर आने के डेढ़ साल बाद सन्नी ने अपने दो साथियों के साथ शामली के झिंझाना में एक और हत्याकांड को अंजाम दे दिया। हत्याकांड को अंजाम देकर आरोपी फरार हो गए। पुलिस तीनों की तलाश कर रही है।

4 मार्च 2020 को हुई थीं जमानत
आशीष और आशुतोष हत्याकांड के आरोपी सन्नी को 4 मार्च 2020 और 17 मार्च 2020 को उसके दोनों भाईयों सूरज व गौरव को जमानत मिल गई थी। बताया जा रहा है कि आरोपी सन्नी का थाना झिंझाना के म्याना गांव में पुस्तैनी मकान है। 10 साल पहले पारिवारिक कलह के चलते महिपाल अपने बच्चों सहित सहारनपुर के माधव नगर में आकर बस गया था। हैरानी की बात यह है कि हाईकोर्ट से जमानत मिलने के 16 महीने बाद ही उसने अपने कजिन की हत्या कर दी।

आशीष और आशुतोष की मां खौफजादा
आशीष और आशुतोष की मां उर्मिला झिंझाना हत्याकांड की खबर सुनकर काफी डरी हुई हैं। हालांकि हत्याकांड को देखते हुए सहारनपुर पुलिस ने उर्मिला के घर की सुरक्षा बढ़ा दी है। दोनों भाइयों की हत्या के बाद से ही पुलिस घर पर तैनात है।

एसपी शामली सुकीर्ति माधव का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। जल्द ही आरोपियों को पकड़ लिया जाएगा। सहारनपुर एसएसपी डॉ.एस चनप्पा का कहना है कि एहतियात के तौर पर आशीष और आशुतोष की मां उर्मिला की सुरक्षा के लिए घर पर गार्द बढ़ा दी गई है।

खबरें और भी हैं...