पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सहारनपुर में लोगों ने बिजली घर पर किया प्रदर्शन:हकीमपुरा गांव में 17 और 18 जुलाई को करंट फैलने से 24 से ज्यादा ग्रामीण हुए थे जख्मी

सहारनपुर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
हकीमपुरा गांव में बिजली का करंट फैलने से 100 से ज्यादा ग्रामीणों के बिजली के उपकरण  फूंक गए थे। - Dainik Bhaskar
हकीमपुरा गांव में बिजली का करंट फैलने से 100 से ज्यादा ग्रामीणों के बिजली के उपकरण फूंक गए थे।

सहारनपुर के थाना देहात कोतवाली के हकीमपुरा के लोगों ने बिजली घर में पहुंचकर हंगामा किया और फीडर को बंद कराया। ग्रामीणों का कहना है कि गांव में फिर से करंट दौड़ रहा है। लेकिन विद्युत अधिकारियों का इस और कोई ध्यान नहीं है। वहीं ग्रामीणों ने हकीमपुरा बिजली के जेई पर अपशब्द कहने का आरोप लगाया।

बुधवार सुबह नौ बजे हकीमपुरा के सैंकड़ों ग्रामीण बिजलीघर पहुंच गए और हंगामा कर धरना दिया। ग्रामीण जैसे ही बिजली घर पहुंचे तो ग्रामीणों ने पहले फीडर को बंद कराया। ग्रामीणों ने जैसे ही जबरन फीडर बंद कराया तो नवनियुक्त जेई पंकज मलिक भड़क गया और ग्रामीणों के साथ अभद्र भा का प्रयोग करने लगा। गुस्साएं ग्रामीण बिजली घर के बाहर ही धरने पर बैठ गए। ग्रामीणों का कहना है कि जब तक गांव की बिजली की समस्या का हल नहीं होता है तब तक वह यहीं पर धरना देते रहेंगे।

बता दें कि 17 व 18 जुलाई को गांव हकीमपुरा में HT की लाइन टूटकर LT लाइन पर गिर गई थी। जिससे गांव के सैंकड़ों घरों में करंट दौड़ गया था। दो दिनों तक हुए हादसे में 24 से ज्यादा लोग करंट की चपेट में आ गए थे और लोगों के सभी बिजली के सभी उपकरण फूंक गए थे। जिन्हें अस्पताल में भी भर्ती कराया गया था। विद्युत अधिकारियों ने पहुंचकर बिजली के तार बदलने का आश्वासन दिया था। लेकिन आज तक भी बिजली के तार नहीं बदलवाए गए। ग्रामीण अनिल, जय कुमार, रजनीश, अजीत, विजय और ओमप्रकाश ने बताया कि सुबह से ही गांव के ट्रांसफार्मर में करंट दौड़ रहा है। ऐसे में सभी के घरों में करंट आ रहा है। जिससे दोबारा से अनहोनी घट सकती है। लेकिन विद्युत अधिकारी इस और ध्यान नहीं दे रहे हैं।
लापरवाही बरतने पर जेई पर हुई थी कार्रवाई
17 व 18 जुलाई को गांव हकीमपुरा बिजली का करंट फैल गया था। जिससे 24 से ज्यादा महिलाएं, बच्चे और पुरुष करंट की चपेट में आ गए थे। 100 से ज्यादा ग्रामीणों के बिजली के उपकरण भी फूंक गए थे। ऐसे में एससी असलम खान ने तत्कालीन जेई को हटा दिया और दूसरे जेई अनिल मलिक की तैनाती कर दी थी।

खबरें और भी हैं...