सहारनपुर मंडल की चीनी मिलों पर 1324 करोड़ बकाया:सहारनपुर, मुजफ्फरनगर और शामली की चीनी मिलों ने अभी तक 78% भुगतान किया है, मंडल की पांच मिलों ने 100% भुगतान किया है

सहारनपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चीनी मिल का प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
चीनी मिल का प्रतीकात्मक फोटो।

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर मंडल में शुगर मिलों ने नए पेराई सत्र के लिए मेंटीनेंस सहित अन्य तैयारियां शुरू कर दी है। जिला सहारनपुर, मुजफ्फरनगर व शामली में गन्ना भुगतान में मुजफ्फरनगर की चार मिल भुगतान करने में नंबर वन पर है। जबकि सहारनपुर की एक मिल ने पूरा भुगतान कर दिया है। शामली की तीन मिलों ने अभी तक पूरा भुगतान नहीं किया है। सहारनपुर मंडल की 17 शुगर मीलों पर 6005 करोड़ रुपये बकाया था। जिसमें से 4691 करोड़ रुपये का भुगतान हो चुका है। अभी 12 शुगर मिलों पर 1324 करोड़ रुपये बकाया है। हालांकि यह कई सालों का बकाया था।
मंडल में 22% भुगतान बकाया
सहारनपुर मंडल के जिला मुजफ्फरनगर और शामली गन्ना भुगतान को लेकर किसान काफी खफा है। आगामी पेराई सत्र के लिए मिलों ने तैयारियां भी शुरू कर दी है। अभी तक शुगर मिलों ने पूर्णरूप से भुगतान नहीं हुआ है। सहारनपुर में अभी तक 77% भुगतान हो चुका है। मुजफ्फरनगर में 88% व शामली में 51% भुगतान हो चुका है। मंडल में कुल मिलाकर 78% किसानों का भुगतान हो चुका है। 22% भुगतान किसानों का बकाया है।
नहीं मिल रहा ब्याज
सहारनपुर मंडल की अधिकांश शुगर मिलों ने आगामी पेराई सत्र के लिए 29 से 50% मेंटीनेंस कार्य पूरा करा दिया है। किसान अतुल फंदपुरी, प्रदीप नंबरदार, महक सिंह चौरा खुर्द आदि का कहना है कि समय पर गन्ना मूल्य का भुगतान नहीं होने से किसानों को काफी नुकसान हो रहा है। किसानों को गन्ना क्रय अधिनियम के तहत 14 दिनों के अंदर गन्ना मूल्य का भुगतान हो जाना चाहिए। निर्धारित समयावधि में भुगतान नहीं करने पर नियमानुसार बकाया मूल्य पर 15 प्रतिशत की दर से ब्याज देना चाहिए। लेकिन किसानों को ना तो समय पर गन्ना मूल्य मिल रहा है और ना ही ब्याज।

सहारनपुर की मिल-देय-भुगतान-बकाया
देवबंद-514-514-00
गांगनौली-292-110-182
शेरमऊ-276-238-38
गागलहेड़ी-140-98-42
नानौता-238-165-73
सरसावा-156-112-45
----------------
टोटल-1616-1237-379
----------------

मुजफ्फरनगर की मिले-देय-भुगतान-बकाया
खतौली-760-740-00
तितावी-538-513-25
बुढ़ाना-447-156-291
मंसूरपुर-467-467-00
टिकौला-551-551-00
खाई खेरी-207-187-20
रोहाना-107-107-00
मौरना-168-118-50
----------------
टोटल-3246-2859-387
-----------------

शामली की मिले-देय-भुगतान-बकाया
थानाभवन-439-184-255
शामली-366-194-173
ऊन-337-207-130
----------------
टोटल-1143-585-558
----------------
नोट: गन्ना विभाग के 21 अगस्त के आंकड़ों के अनुसार।

जिला गन्ना अधिकाीर कृष्ण मोहन त्रिपाठी का कहना है कि जिले में देवबंद चीनी मिल ने गन्ना का पूर्ण भुगतान कर दिया है। मुजफ्फरनगर में चार चीनी मिलों ने भुगतान कर दिया है। शामली में अभी तक तीनों मिल में से एक ने भी पूर्ण भुगतान नहीं किया है। बकाया भुगतान में कोताही बरतने वाली मिलों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...