सहारनपुर में बाल्टी में डूबने से बच्चे की मौत:बच्चे की मां घर के काम में व्यस्त थी, बच्चा आंगन में लकड़ी के टुकड़े से खेल रहा था

सहारनपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो

सहारनपुर के थाना नकुड़ क्षेत्र के अंबेहटा कस्बा की सफिया कॉलोनी में शुक्रवार शाम को दिलशाद का डेढ़ साल के बेटा लड़की के टुकड़े से खेल रहा था। लकड़ी का टुकड़ा पानी से भरी बाल्टी में जा गिरा। बच्चे ने लकड़ी के टुकड़े को बाल्टी के सहारे खड़ा होकर निकालने का प्रयास किया। लेकिन वह खुद ही बाल्टी में मुंह के बल गिर गया। जिससे दम घुटने से बच्चे की मौत हो गई।
घर के काम व्यस्त थी मां
डेढ़ साल का कासिम आंगन में लकड़ी के टुकड़े से खेल रहा था और मां घर के कामों में व्यस्त थी। बच्चा बाल्टी में मुंह के बल गिरा तो उसकी आवाज तक नहीं निकल सकी। काफी देर बाद जब बच्चे की मां आंगन में आई तो उसने देखा की बच्चा पानी में डूबा पड़ा है और उसकी सांस भी नहीं चल रही। यह देखकर मां की चींख निकल गई। चींख सुनकर परिवार और मोहल्ले के आसपास के लोग इकट्‌ठा हो गए। बच्चे को पास के सरकारी अस्पताल में ले जाया गया। जहां पर चिकित्सक ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया। बच्चे की मौत से घर में कोहराम मच गया।
पुताई का काम करता है पिता
मृतक बच्चे का पिता दिलशाद पुताई का काम करता है। कुछ दिन पहले ही वह काम करने के लिए उड़ीसा गया था। दिलशाद के पांच बच्चों में मृतक बच्चा सबसे छोटा था। पिता को बच्चे की सूचना दी।

खबरें और भी हैं...