• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Saharanpur
  • The Commission Directed The Magistrate To Investigate The Murder Case, The Administration Has Been Given 21 Days To Investigate The Whole Matter, The Police Who Went To Raid The Thithki Village Of Saharanpur Were Accused Of Shooting

जीशान हत्याकांड:अल्पसंख्यक आयोग ने DM से रिपोर्ट मांगी:आयोग ने हत्याकांड की मजिस्ट्रेट से जांच कराने के निर्देश दिए, प्रशासन को पूरे मामले की जांच कर 21 दिन का समय दिया है, सहारनपुर के थीथकी गांव में दबिश देने गई पुलिस पर गोली मारने का आरोप

सहारनपुर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो

सहारनपुर के थाना देवबंद के थीथकी गांव में गोकशी की सूचना पर छापामारी के दौरान गोली लगने से हुई जीशान की मौत का मामला राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग पहुंच गया है। आयोग ने युवक की मौत के मामले में केंद्रीय अल्पसंख्यक आयोग के अपर सचिव ने जिले के डीएम से रिपोर्ट तलब की है। महिला आयोग द्वारा पूरे मामले की जांच उप मजिस्ट्रेट रैंक के अधिकारी से करा कर मामले की रिपोर्ट 21 दिन के अंदर प्रस्तुत करने के आदेश दिए हैं।

5 सितंबर की घटना
कोतवाली क्षेत्र के गांव थीतकी में विगत 5 सितंबर की रात पुलिस ने गोकशी की सूचना पर थीतकी गांव के जंगल में छापामारी की थी। इस दौरान जीशान पैर में गोली लगने से घायल हो गया था, जिसकी उपचार के दौरान मौत हो गई थी। पुलिस का कहना था कि भागते समय स्वयं का तमंचा चलने से जीशान की मौत हुई।

मृतक की पत्नी ने पुलिस पर लगाया था हत्या का आरोप
मृतक जीशान की पत्नी ने SSP डा.एस.चनप्पा को तहरीर देकर तीन उपनिरीक्षक सहित 13 पुलिसकर्मियों पर पति की हत्या करने का आरोप लगाया था। इतना नहीं सपा शासन में दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री सैयद ईसा रजा ने भी अपने चचेरे भाई जीशान की मौत का मामला लखनऊ तक ले गए। जिसके चलते इस प्रकरण की जांच क्राइम ब्रांच कर रही है। पूरे मामले की शिकायत मृतक जीशान हैदर की पत्नी ने प्रदेश के अल्पसंख्यक आयोग को पत्र भेजकर की थी। भेजे गए पत्र में महिला ने पुलिस पर अपने पति की हत्या का आरोप लगाया था। हालांकि शुरुआत से ही पुलिस पूरे प्रकरण में किसान की मौत स्वयं के तमंचे से गोली लगने के कारण होना बता रही है।

अपर सचिव ने डीएम को भेजा पत्र
गुरुवार को अल्पसंख्यक आयोग के अपर सचिव ने सहारनपुर के डीएम को पत्र भेजकर पूरे प्रकरण में उप मजिस्ट्रेट रैंक के अधिकारी से मामले की जांच करा कर 21 दिन के अंदर रिपोर्ट तलब की है। जिसके बाद से ही पुलिस प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है। वहीं पीड़ित परिवार द्वारा जीशान हत्या प्रकरण को लेकर हाईकोर्ट में भी याचिका दाखिल की है। पूर्व दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री सैयद ईसा रजा का कहना है, उन्हें देश के कानून पर पूर्ण विश्वास है। पूरे मामले में पीड़ित परिवार को इंसाफ मिलना चाहिए।

खबरें और भी हैं...