पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Saharanpur
  • The Inspector Abused The Young Man For Not Picking Up The Phone, Accusing Him Of Indecent Remarks About Namaz ... Hundreds Of People Surrounded Janakpuri Police Station, Demanding Suspension

इंस्पेक्टर नमाज पर हुए नाराज तो भीड़ ने घेरा थाना:सहारनपुर में फोन नहीं उठाने पर इंस्पेक्टर ने बुजुर्ग से की गाली-गलौज, भीड़ थाने में जमी, सस्पेंड करने की मांग

सहारनपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मुस्लिम समाज पर अभद्र टिप्पणी को लेकर प्रदर्शन करते लोग। - Dainik Bhaskar
मुस्लिम समाज पर अभद्र टिप्पणी को लेकर प्रदर्शन करते लोग।

सहारनपुर के थाना जनकपुर क्षेत्र में इंस्पेक्टर मदन पाल द्वारा धार्मिक टिप्पणी करने पर मुस्लिम समाज के लोग सड़कों पर उतर गए। मुस्लिम समाज के लोग इंस्पेक्टर को सस्पेंड करने की मांग पर अड़े रहे। मुस्लिम समाज के गणमान्य लोगों ने समझाने का प्रयास किया, लेकिन नहीं माने। मौके पर सपा नगर विधायक संजय गर्ग और सांसद प्रतिनिधि भी पहुंच गए। उन्होंने थाना प्रभारी कुलदीप सिंह से बात कर रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई करने की मांग की।

नाराज लोगों ने जनकपुरी थाना घेरा
बुधवार शाम पांच बजे थाना जनकपुरी क्षेत्र के बूंदू का चौक में रहने वाले अब्दुल कादिर को इंस्पेक्टर मदन पाल बार-बार थाने बुलाने के लिए फोन कर रहे थे। नमाज में होने की वजह से वह फोन नहीं उठा पाए तो इंस्पेक्टर उनके घर ही पहुंच गया। मोहल्ले के लोगों का कहना है कि जब इंस्पेक्टर पहुंचा तो उसके फोन न उठाने की बात कही। जिस पर एक युवक ने कह दिया कि वो तो नमाज में थे। जिस पर इंस्पेक्टर ने गाली-गलौज शुरू कर दी और धर्म पर टिप्पणी कर दी। इंस्पेक्टर पर मुस्लिम समाज के लोग भड़क गए और इंस्पेक्टर को घेर लिए। इंस्पेक्टर वहां से जान बचाकर भागा, लेकिन मुस्लिम समाज के सैकड़ों लोगों ने थाना जनकपुरी का घेराव कर लिया।

तीन दिन से लापता थी अब्दुल कादिर की बेटी
थाना जनकपुरी के बूंदू चौक निवासी अब्दुल कादिर की नाबालिग बेटी तीन दिन पहले एक युवक के साथ चली गई थी। जिसकी शिकायत अब्दुल कादिर ने थाना जनकपुरी में की थी। थाना जनकपुरी प्रभारी कुलदीप सिंह का कहना है कि फरार बेटी को बरामद कर लिया गया था। बेटी को सुपुर्द करने के लिए अब्दुल कादिर को बुलाया जा रहा था, लेकिन सुबह से वह फोन नहीं उठा रहा था।

मुस्लिम समाज के नेताओं ने भीड़ समझाया
मुस्लिम समाज के नेता और गणमान्य लोगों ने भीड़ को समझाने का प्रयास किया लेकिन भीड़ नहीं मानी। लोग लगातार हंगामा करते रहे।

जांच के बाद होगी कार्रवाई
वहीं थाना प्रभारी कुलदीप सिंह ने कहा है कि तीन दिन पहले अब्दुल कादिर की बेटी किसी लड़के के साथ चली गई थी, जिसकी बरामदगी कर ली गई थी। उसी को सुपुर्द करने के लिए बुलाया जा रहा था। उन्होंने कहा कि अगर इंस्पेक्टर ने कोई अभद्र टिप्पणी की है तो जांच कराकर कार्रवाई कराई जाएगी।

खबरें और भी हैं...