• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Saharanpur
  • The Names Of Ten To 15 People Who Converted To Religion Came To Light, The Intelligence Agency Engaged In Scouting The Deoband Network Of Maulana Kalim Siddiqui

सहारनपुर...धर्म परिवर्तन करने वालों की कुंडली खंगाल रही ATS:धर्म परिवर्तन करने वाले दस से 15 लोगों के नाम प्रकाश में आए, मौलाना कलीम सिद्दीकी के देवबंद नेटवर्क को भी खंगालने में जुटी खुफिया एजेंसी

सहारनपुर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो

सहारनपुर के देवबंद में यूपी ATS द्वारा धर्मांतरण मामले में गिरफ्तार किए गए मौलाना कलीम सिद्दीकी का नेटवर्क सहारनपुर के देवबंद तक फैला हुआ था। ATS और खुफिया एजेंसियों द्वारा देवबंद में डेरा डाल कलीम सिद्दीकी के देवबंद कनेक्शन की जांच शुरू कर दी है। पूरे मामले में स्थानीय पुलिस चुप्पी साधे हुए हैं।

देवबंद में भी धर्मांतरण के मामले प्रकाश में आए
खुफिया एजेंसियों का दावा है विगत वर्षों में देवबंद क्षेत्र में भी धर्म परिवर्तन के मामले प्रकाश में आए हैं। जिनमें ज्यादातर हिंदू समाज की युवतियों द्वारा संप्रदाय विशेष के युवकों से धर्म परिवर्तन करने के मामले भी शामिल है। खुफिया एजेंसियों द्वारा ऐसी हिंदू युवतियों की सूची भी तैयार की है, जिन्होंने विगत तीन वर्षों के दौरान धर्म परिवर्तन किया है। इनमें देवबंद कोतवाली क्षेत्र के गांव व नगर के भी कुछ नाम प्रकाश में आए हैं।

धर्म परिवर्तन करने वाले 10 युवतियों सहित 15 लोगों चिन्हित किया
सूत्रों की माने तो खुफिया एजेंसियों ने 10 हिंदू युवतियों समेत 15 लोगों के नाम भी चिन्हित किए हैं। जिनकी धर्म परिवर्तन करने के कारण व पूर्व की कुंडली भी खंगाली जा रही है। हालांकि स्थानीय पुलिस पूरे मामले पर चुप्पी साधे हुए हैं। कोई भी अधिकारी पूरे प्रकरण पर बयान देने से बच रहा है। लेकिन शुरुआती जांच एजेंसियों और ATS की खुफिया विंग को महत्वपूर्ण सुराग हाथ लगे हैं। देवबंद क्षेत्र से भी कुछ संदिग्धों की गिरफ्तारी तय मानी जा रही है। हालांकि खुफिया विभाग पूरे प्रकरण की गोपनीय जांच कर रहा है।

देवबंद में तीन वर्ष पूर्व मेरठ के व्यापारी की पुत्री का कराया गया था धर्म परिवर्तन
मेरठ के एक व्यापारी की पुत्री देवबंद के एक संप्रदाय विशेष के युवक के साथ फरार हो गई थी। जिसके बाद मेरठ की क्राइम ब्रांच द्वारा देवबंद में छापामारी करते हुए एक महिला समेत तीन लोगों को हिरासत में लिया था। क्राइम ब्रांच की जांच में खुलासा हुआ था कि देवबंद के एक घर में युवती का धर्म परिवर्तन कराने के बाद निकाह करा दिया गया था। हालांकि क्राइम ब्रांच द्वारा पूरे मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। जबकि युवती को परिजनों के हवाले कर दिया गया था।

सीओ देवबंद रजनीश उपाध्याय का कहना है कि यूपी ATS द्वारा देवबंद पुलिस से अब तक कोई संपर्क नहीं किया है। ATS द्वारा सहारनपुर के सरसावा से कुछ लोगों की गिरफ्तारी जरूर की थी। इसके अलावा देवबंद के मामले में उन्हें कोई जानकारी नहीं है। जैसे भी कोई जानकारी होगी मीडिया को उपलब्ध करा दी जाएगी।

खबरें और भी हैं...