सहारनपुर की ग्लोकल यूनिवर्सिटी में दिखे दो शावक:एक माह से कैंपस के चक्कर लगा रहे हैं, वन विभाग ने पकड़ने के लिए लगाया पिंजरा

सहारनपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
DFO ईश्वर चंद सिंह ने बताया कि शुक्रवार की शाम को ग्लोकल यूनिवर्सिटी के कैपस में दो पिंजरे शावकों को पकड़ने के लिए लगाए है। - Dainik Bhaskar
DFO ईश्वर चंद सिंह ने बताया कि शुक्रवार की शाम को ग्लोकल यूनिवर्सिटी के कैपस में दो पिंजरे शावकों को पकड़ने के लिए लगाए है।

सहारनपुर की ग्लोकर यूनिवर्सिटी में दीवार फांदकर पांच अगस्त को दो शावक घुस गए थे। शावक को देखकर कैंपस में रहने वाले MBBS के विद्यार्थियों और प्रोफेसरों एवं अन्य लोगों में हड़कंप मच गया था। हालांकि कैंपस में शावक लगातार एक माह से घूम रहे थे। यूनिवर्सिटी प्रशासन ने वन विभाग को भी सूचना दी थी। लेकिन किसी ने भी सुध नहीं ली थी। लेकिन मामला मीडिया में आने के बाद जिला प्रशासन सहित वन विभाग के कान खड़े हो गए। शुक्रवार की शाम को वन विभाग की टीम ने यूनिवर्सिटी कैंपस में पहुंचकर दो पिंजरे और तीन कमरे लगा दिए है।

5 अगस्त को फिर से कैम्पस में आए थे नजर

बता दें कि थाना मिर्जापुर क्षेत्र की ग्लोकल यूनिवर्सिटी में 5 अगस्त की शाम को दो शावकों का जोड़ा घुस गया। यूनिवर्सिटी प्रशासन का कहना था कि दोनों शावकों को कई बार कैंपस में देखा गया है। आरोप था कि वन विभाग की टीम को महीने में कई बार लिखित सूचना दी गई है। लेकिन वन विभाग का कोई भी कर्मचारी वहां नहीं पहुंचा। कई बार विद्यार्थियों ने भी रात के समय तेंदुओं को कैंपस में टहलते हुए देखें हैं। हालांकि यूनिवर्सिटी प्रशासन ने सभी छात्रों, कर्मचारियों व शिक्षकों को बाहर निकलते हुए एहतियात बरतने को कहा है।

वन विभाग ने लगाए दो पिंजरें और तीन कैमरे

DFO ईश्वर चंद सिंह ने बताया कि शुक्रवार की शाम को ग्लोकल यूनिवर्सिटी के कैपस में दो पिंजरे शावकों को पकड़ने के लिए लगाए है। जबकि उनकी निगरानी करने के लिए यूनिवर्सिटी के बैक साइड में तीन कैमरे अलग से लगाए गए है। कैपस में घुसने पर ही शावकों की रिकॉडिंग होगी। पिंजरे में मांस के टुकड़े रखें गए है। जल्द ही शावकों को पकड़कर जंगल में भेज दिया जाएगा।

जंगलों से सटी है यूनिवर्सिटी
ग्लोकल यूनिवर्सिटी जंगलों से सटी हुई है। परिसर की दीवार छोटी होने के कारण शावक कैंपस में कूद जाते हैं। गुरुवार की दोपहर को शावक घुस गए थे और एक मंजिल की सीढ़ियों में बैठ गए। मामले की गंभीरता को देखते हुए यूनिवर्सिटी प्रशासन ने सभी छात्र, शिक्षक व कर्मचारियों के लिए अलर्ट जारी किया है। यूनिवर्सिटी के MD ने सभी को हिदायत दी है कि वह बाहर निकलते वक्त एहतियात बरतें।

यूनिवर्सिटी प्रशासन ने जताई नाराजगी
यूनिवर्सिटी के MD महमूद अली का कहना है कि पिछले कई दिनों से यूनिवर्सिटी कैंपस में शावक देखें जा रहे हैं। जिसकी शिकायत बार बार वन विभाग को की जा रही है। लेकिन अभी तक कोई सुध नहीं ली है। उनका कहना है कि जब कोई बड़ा नुकसान शावक कर देंगे तभी जिला प्रशासन और वन विभाग की टीम जागेगी। वहीं DFO को फोन मिलाया गया, लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया।

खबरें और भी हैं...