सहारनपुर...ग्रामीणों का कप्तान के बंगले पर हंगामा:ग्रामीण बोले, हत्या के मामले में दोनों युवकों को गलत फंसाया गया, एसपी सिटी ने जांच का आश्वासन दिया

सहारनपुर21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शिकायत पत्र दिखाते ग्रामीण - Dainik Bhaskar
शिकायत पत्र दिखाते ग्रामीण

सहारनपुर के थाना देहात कोतवाली क्षेत्र के गांव हौजखेड़ी के युवक की 3 जनवरी को पीट-पीटकर हत्या करने के मामले में नया मोड आ गया है। शुक्रवार को परिजनों और ग्रामीणों ने कप्तान के बंगले पहुंचकर हंगामा किया।

ग्रामीणों का कहना है कि हत्या के मामले में जिन दो युवकों को जेल भेजा गया है, वह बेकसूर है। आरोप है कि पुलिस पूछताछ के लिए लेकर आई थी और बिना जांच के ही जेल भेज दिया है। ग्रामीणों का कहना है कि जिस महिला ने हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है, उसी ने हत्या की है।

यह था मामला
हौजखेड़ी की रहने वाली रुबी ने अपने पति की पीट-पीटकर हत्या का आरोप सोनू व बृजेश पर लगाया था। 4 जनवरी को दोनों के खिलाफ हत्या का मुकदमा भी दर्ज कराया था। महिला का आरोप था कि सोनू और बृजेश उसके पति रणवीर को घर से बुलाकर ले गए थे और 4 जनवरी को रणवीर का शव चिलकाना नहर में पड़ा मिला था। पुलिस ने महिला की तहरीर के आधार पर हत्या का मुकदमा दर्ज कर दोनों आरोपियों को हिरासत में लिया और जेल भेज दिया।

क्या युवकों ने कबूल की थी हत्या?
इंस्पेक्टर सुरेंद्र सिंह ने बताया था कि तीनों युवक नहर के पास बैठकर शराब पी रहे थे और युवकों ने हत्या करना कबूल कर लिया था। शराब के पैसे मांगने पर तीनों में झगड़ा भी हुआ। जिसके बाद सोनू और बृजेश ने पीट-पीटकर नहर में धक्का दे दिया था। ग्रामीणों के आरोप के बाद यह सवाल उठना लाजिमी है।

सैकड़ों ग्रामीण कप्तान के बंगले पहुंचे
शुक्रवार की शाम को हौजखेड़ी और आमवाला के सैकड़ों ग्रामीण कप्तान के बंगले पर पहुंचे। ग्रामीण घंटों तक बंगले के बाहर खड़े रहे। लेकिन थाना जनकपुरी पुलिस ने ग्रामीणों से मिलने नहीं दिया। जिसके बाद ग्रामीण एसपी सिटी राजेश कुमार के पास पहुंचे और न्याय की गुहार लगाई।

एसपी सिटी राजेश कुमार का कहना है कि इस मामले में निष्पक्ष जांच की जा रही है। यदि युवक गलत जेल गए हैं और किसी और ने हत्या की है तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...