• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Sambhal
  • In Sambhal, The High Command Was Annoyed By The Inclusion In The Nomination Of The SP Candidate, District President Jitendra Singh Issued The Letter

बसपा से निष्कासित हुए पूर्व विधायक अकील उर रहमान:संभल में सपा प्रत्याशी के नामांकन में शामिल होने से हाईकमान थी नाराज, जिलाध्यक्ष जितेंद्र सिंह ने जारी किया पत्र

संभल9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
संभल में बसपा हाईकमान ने पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते पूर्व विधायक अकील उर रहमान को किया निष्कासित। - Dainik Bhaskar
संभल में बसपा हाईकमान ने पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते पूर्व विधायक अकील उर रहमान को किया निष्कासित।

संभल में बहुजन समाज पार्टी में 29 साल तक अपना राजनीतिक सफर करने वाले कद्दावर नेता अकील उर रहमान खा को पार्टी ने निष्कासित कर दिया है। उन पर पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप है। बताया जा रहा कि वह ब्लॉक प्रमुख पद की सपा समर्थित प्रत्याशी के नामांकन में शामिल हुए थे। तभी से पार्टी हाईकमान ने उनके खिलाफ कार्रवाई का मन बना लिया था।

बसपा जिलाध्यक्ष जितेंद्र सिंह एडवोकेट ने जारी किया लेटर
जिले के बसपा जिलाध्यक्ष जितेंद्र सिंह एडवोकेट की तरफ से एक पत्र जारी किया गया है। जिसमें कहा गया है कि बसपा की जिला यूनिट की रिपोर्ट के आधार पर बसपा के पूर्व विधायक अकील उर रहमान खा को अनुशासनहीनता और पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के आरोप में पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है। इसके पीछे एक कारण यह भी बताया जा रहा है कि उनके द्वारा सपा से मुरादाबाद की कुंदरकी विधानसभा सीट से टिकट मांगने की जानकारी हाईकमान तक पहुंची थी। जिसको लेकर पार्टी ने नाराजगी जताई थी।

जिलाध्यक्ष ने जारी किया लेटर
जिलाध्यक्ष ने जारी किया लेटर

सपा प्रत्याशी के नामांकन में शामिल होना पड़ा मंहगा
वहीं कहा यह भी जा रहा है कि जुलाई में ब्लॉक प्रमुख चुनाव के दौरान संभल में ब्लॉक प्रमुख पद की सपा समर्थित प्रत्याशी के नामांकन में अकील उर रहमान खा के शामिल होने की तस्वीरें बसपा हाईकमान तक पहुंची थी। जिसके बाद से ही पार्टी हाईकमान इनके खिलाफ कार्यवाही का मन बना चुका था। लेकिन कई महीने तक मामला शांत होने के बाद सपा से टिकट मांगने की दावेदारी को लेकर जिला यूनिट ने पार्टी हाईकमान को रिपोर्ट सौंपी। तो इस बार पार्टी हाईकमान ने कार्यवाही करते हुए अकील उर रहमान को पार्टी से बाहर कर दिया है।

पार्टी में निभा चुके हैं अहम जिम्मेदारियां
अकील उर रहमान खा ने संगठन के लिए भी अहम रोल निभाया है। वह मुरादाबाद व बरेली मंडल के कोऑर्डिनेटर रहे। तो वहीं बसपा में राजस्थान और महाराष्ट्र प्रदेश के प्रभारी भी रह चुके हैं। वहीं 2019 में पार्टी ने उन्हें उत्तराखंड प्रभारी की जिम्मेदारी भी दी थी।