संभल में महामंडलेश्वर यतींद्रानंद गिरी ने दिया विवादित बयान:कहा- मुसलमानों को भारत में रहने का नहीं है अधिकार, इनसे वोट का अधिकार लेना चाहिए वापस

संभल6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
संभल में महामंडलेश्वर यतींद्रानंद गिरी का भाजपा नेताओं ने किया स्वागत। - Dainik Bhaskar
संभल में महामंडलेश्वर यतींद्रानंद गिरी का भाजपा नेताओं ने किया स्वागत।

संभल में जूना अखाड़ा के महामंडलेश्वर यतींद्रानंद गिरी रविवार को भाजपा नेता कपिल सिंघल के आवास पर पहुंचे। वहां भाजपा के पश्चिमी यूपी के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष राजेश सिंघल समेत लोगों ने महामंडलेश्वर का फूल देकर स्वागत किया। महामंडलेश्वर ने कहा कि मुसलमानों को देश में रहने का कोई हक नहीं है। उनसे वोटिंग का अधिकार वापस ले लेना चाहिए। साथ ही असद्उद्दीन ओवैसी के लखनऊ को शाहीन बाग बनाने वाले बयान पर कहा कि इसके लिए तो सीएम उनको कब से निमंत्रण दे रहे हैं। वह आने की हिम्मत तो करें।

दो अलग संस्कृति के लोग आपस में भाई नहीं हो सकते
यतींद्रानंद गिरी ने कहा कि 1947 में विभाजन के समय तथाकथित सेकुयलर नेताओं ने विभाजन भौगोलिक या इतिहास के आधार पर नहीं। बल्कि धर्म के नाम पर किया। वह कहते थे कि हिंदू और मुस्लिम दो भाई हैं। लेकिन हम कहते हैं कि जिनकी संस्कृति नहीं मिलती। वह कभी दो भाई हो ही नहीं सकते। लेकिन फिर भी एक पूरा हिस्सा मुसलमानों को दे दिया गया। इसलिए अब अधिकार ना होते हुए भी जब मुसलमानों को उनकी भूमि दे दी गई तो भारत में मुसलमान क्या कर रहे हैं। अगर भारत में रहना है तो शरणार्थी के रूप में रहे।

मुसलमानों को दिया जाए दोयम दर्जा
साथ ही यतींद्रानंद गिरी ने मुसलमानों से वोट का अधिकार वापस लेने और दोयम दर्जे की नागरिकता देने की मांग उठाई हैं। मुसलमान यहां के संसाधनों का भरपूर फायदा उठा रहा है लेकिन भारत की संस्कृति और सरकार को रोजाना गाली देता है। जो भारत की संस्कृति को अपनाने के लिए तैयार नहीं है। वह भारत का नागरिक होने का भी अधिकारी नहीं है। इसलिए इनको दोयम दर्जे का नागरिक बनना चाहिए और वोट का अधिकार वापस लेना चाहिए।

कांग्रेस पार्टी अपने ताबूत में ठोंक रही आखिरी कील
ओवैसी के द्वारा यूपी को शाहीन बाग बनाने की धमकी पर कहा कि ओवैसी यूपी में आने की हिम्मत तो करें। जिसके लिए मुख्यमंत्री निमंत्रण दे चुके हैं। मुख्यमंत्री उनका स्वागत करेंगे। कांग्रेस नेता राशिद अल्वी और सलमान खुर्शीद की बयानबाजी पर कहा कि कांग्रेस ने सोच लिया है कि वह अपने ताबूत में आखिरी कील इसी पीढ़ी में ठोकेंगे। और जो काम वह कर रहे हैं इसकी हमें बहुत खुशी है। भगवान से प्रार्थना करते हैं कि उनकी बुद्धि इसी तरह बनी रहे।