संभल के कुश्ती कोच आचार्य भोले सिंह त्यागी का बयान:बोले- कुश्ती को नष्ट करने का सियासी मोड़, जो यौन शोषण का शिकार हैं वे अपने स्वार्थ में हैं

संभल15 दिन पहले
आचार्य भोले सिंह।

पहलवानों के गंभीर आरोपों से विवाद में फंसे कुश्ती संघ को लेकर संभल के कुश्ती कोच ने ब्रजभूषण शरण सिंह की हिमायत करते हुए कहा कि यौन शोषण के आरोपों पर विवादित बयान दिया है, यौन शोषण बिना सहमति कैसे हो जाएगा और जो यौन शोषण का शिकार हैं अपने स्वार्थ में हैं।

कुश्ती को नष्ट करने का है सियासी मोढ़: अचार्य भोले सिंह
जनपद संभल के थाना नखासा क्षेत्र के गांव कल्याणपुर में संचालित त्यागी स्पोर्ट्स कन्या गुरुकुल के कुश्ती कोच आर्य भोले सिंह त्यागी ने कहा कि कुश्ती संघ एवं खिलाड़ियों के बीच विवाद में कुश्ती को नष्ट करने का सियासी मोड़ है, ब्रजभूषण शरण सिंह की अध्यक्षता में कुश्ती की तरक्की हुई है, वह 12-13 घंटे खड़े होकर मेहनत करते हैं, उन पर लगे आरोपों से सहमत नहीं हैं, उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों ने पहले यौन शोषण की लिखित कंप्लेंट क्यों नहीं की और एफआईआर क्यों नहीं कराई? धरने पर बैठने वाले दो-तीन महीने पहले तक ब्रजभूषण शरण सिंह की तारीफ करते थे, कुश्ती ने ब्रजभूषण शरण सिंह की अध्यक्षता में तरक्की की है।

जो यौन शोषण का शिकार हैं वे अपने स्वार्थ में हैं: भोले सिंह त्यागी
यौन शोषण के आरोपों पर कुश्ती कोच आचार्य भोले सिंह त्यागी ने विवादित भरा बयान दिया है, उन्होंने कहा कि यौन शोषण से इस्तीफे का क्या मतलब? ये राजनीतिक सियासत है, हरियाणा के लोगों को ब्रजभूषण शरण सिंह से कष्ट है वे चाहते हैं कि सारी चीजें हरियाणा में ही रहनी चाहिए, मगर यौन शोषण पर कहा कि यौन शोषण सहमति बिना कैसे हो जाएगा? जो यौन शोषण का शिकार हैं वे अपने स्वार्थ में हैं, यौन शोषण पीड़िताओं ने अपने साथ हुई घटना को किसी के साथ शेयर क्यों नहीं किया?

धरने पर बैठे कोच पर हो एफआईआर:कुश्ती कोच
धरने पर बैठे एक कोच पर आचार्य भोले सिंह त्यागी ने कहा कि सबसे पहले एफआईआर उन्हीं के खिलाफ होनी चाहिए, जो 10-11 साल तक कोच थे, आपको बता दें कि आचार्य भोले सिंह के स्कूल की में पले बढ़े तमाम पहलवान देश-विदेश में पहलवानी में नाम रोशन कर रहे हैं।