• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Sambhal
  • SP MP Dr. Burke Furious At Naseeruddin Shah In Sambhal: Said He Is Speaking In A Filmy Style, We Are Not Filmy; Muslims Came Long Before Them, What Will They Teach?

नसीरुद्दीन शाह की नसीहत पर भड़के सपा सांसद डॉ. बर्क:बोले- वो फिल्मी अंदाज में बोल रहे, हम फिल्मी नहीं; शाह ने कहा था कि मुसलमानों को वक्त के साथ बदलने की जरूरत है

संभल3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

संभल में गुरुवार को नसीरुद्दीन शाह पर सपा सांसद डॉ. शफीकुर्रहमान बर्क भड़क गए। बुधवार को नसीरुद्दीन शाह के जारी बयान पर उन्होंने कहा कि वो फिल्मी अंदाज में बोल रहे, हम फिल्मी नहीं है। मुसलमान उनसे बहुत पहले आए थे, वो क्या सिखाएंगे। दरअसल, बुधवार को अभिनेता नसीरुद्दीन शाह दिग्गज अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने बुधवार को तालिबान का समर्थन करने वालों पर बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि हिंदुस्तान का इस्लाम अलहदा (अलग) है।

अफगानिस्तान में तालिबानियों की वापसी पूरे विश्व के लिए चिंता का विषय है। कुछ हिंदुस्तानी मुसलमान इन बर्बर लोगों के लिए जश्न मना रहे हैं, जो कि चिंता की बात है और खतरनाक भी है। हर मुस्लिम को खुद से पूछना चाहिए कि क्या उन्हें इस्लाम का आधुनिक स्वरूप चाहिए या फिर कई सदियों पुराने बर्बर रीति रिवाज।

सांसद बोले- हम मुसलमानों को तरक्की की तरफ लेकर चल रहे

किसान आंदोलन का समर्थन करने आए सांसद ने कहा कि जब तक मुसलमानों के साथ जुल्म और ज्यादिती होती रहेगी, तब तक हम हमेशा साथ रहेंगे। भाजपा ने साजिश के तहत मेरे खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज करा दिया। तो क्या अब सरकार के प्रतिनिधि जो तालिबान से बातचीत कर रहे हैं उनके खिलाफ भी देशद्रोह का मुकदमा दर्ज होगा। सांसद ने कहा कि वह कौम के लिए जान दे देंगे। सरकार चाहे उन्हें फांसी पर लटका दे या जेल भेज दे लेकिन हक की बात करते रहेंगे।

शाह बोले- मुझे सियासी मजहब की जरूरत नहीं है

शाह ने कहा, 'हर भारतीय मुसलमान को खुद से पूछना चाहिए कि उसे अपने मजहब में रिफॉर्म (सुधार), जिद्दत पसंदी (आधुनिकता, नवीनता) चाहिए या वे पिछली सदियों के जैसा वहशीपन चाहते हैं। मैं हिंदुस्तानी मुसलमान हूं और जैसा कि मिर्जा गालिब ने एक अरसा पहले कहा था, मेरे भगवान के साथ मेरा रिश्ता अनौपचारिक है। मुझे सियासी मजहब की जरूरत नहीं है।'

सांसद पर दर्ज हो चुका है मुकदमा

दरअसल सांसद के खिलाफ संभल कोतवाली में भाजपा नेता राजेश सिंघल की तहरीर के आधार पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया था। भाजपा नेता ने तालिबान का समर्थन करने और भावनाएं आहत करने की बात कही थी। जिसके आधार पर संभल कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज की गई थी। उसी मुकदमे के आधार पर सांसद ने सरकार पर पलटवार किया है।

हक की आवाज उठाते रहेंगे

सांसद का कहना है कि उन्होंने तो कोई समर्थन किया नहीं था लेकिन उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया। अब तो विदेश मंत्री और राजदूत ने तालिबानियों से बातचीत की है तो क्या उनके खिलाफ भी मुकदमा दर्ज होगा। सांसद ने कहा कि भाजपा संविधान बदलना चाहती है। मुस्लिम और दलितों का हक छीनना चाहती है। कहा कि लेकिन हम संविधान से छेड़छाड़ नहीं होने देंगे। इसके लिए चाहे जेल जाना पड़े या कुर्बानी देनी पड़े। हक की आवाज उठाते रहेंगे।

खबरें और भी हैं...