गर्मी में उल्टी-दस्त से पीड़ित मरीजों की भरमार:खान-पान में बदलाव, नींद न पूरा होने की वजह से हो रही उल्टी-दस्त की समस्या

घनघटा, संत कबीर नगर8 दिन पहले

मई के इस महीने में उमसभरी गर्मी ने अपना रंग दिखाना शुरू कर दिया है। गर्मी का असर है कि क्षेत्र में उलटी-दस्त समेत बुखार के मरीजों की संख्या में एकाएक भारी बढ़ोतरी हो गई है। तहसील क्षेत्र के सरकारी अस्पतालों से लेकर प्राइवेट चिकित्सकों के क्लीनिकों पर इन दिनों भारी संख्या में उल्टी-दस्त और बुखार के मरीज इलाज कराने के लिए पहुंचे रहे हैं।

डॉक्टर उलटी-दस्त और बुखार के मरीजों की संख्या में इजाफा होने का कारण गर्मी के साथ-साथ शादी-ब्याह को भी बता रहे हैं। डॉक्टरों का कहना है कि एक तरफ गर्मी तो दूसरी ओर शादी-ब्याह के कारण लोगों के खान-पान में भी थोड़ा बदलाव आया है। साथ ही लोग शादी-समारोह में शामिल होने के कारण भरपूर नींद भी समय से नहीं ले पा रहे हैं, जिसके कारण उल्टी-दस्त और बुखार के मरीजों की संख्या बढ़ गई है।

क्षेत्र के सीएचसी हैंसर बाजार, सीएचसी नाथनगर तथा पीएचसी शनिचरा बाजार पर उल्टी-दस्त और बुखार से पीड़ित मरीजों की भरमार हो गई है। सरकारी अस्पतालों पर पहुंचने वाले उल्टी-दस्त व बुखार पीड़ित कई मरीजों की गंभीर हालत देखकर डॉक्टर ऐसे मरीजों को प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल के लिए रोज रेफर कर रहे हैं ।

उल्टी दस्त और बुखार से पीड़ित मरीजों की संख्या बढ़ने पर क्षेत्र के विभिन्न कस्बों- बाजारों में संचालित प्राइवेट क्लीनिकों के चिकित्सकों की भी चांदी हो गई है। ऐसे मरीजों के इलाज के नाम पर प्राइवेट चिकित्सक मुंह मांगे तौर पर अस्पतालों में उल्टी-दस्त व बुखार से पीड़ित सभी मरीजों का ड्रिप लगाकर उसके सहारे इलाज किया जा रहा है। अस्पताल में इमरजेंसी ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर ने बताया कि उल्टी-दस्त व बुखार के दर्जनों मरीज इलाज कराने आ रहे हैं ।

खबरें और भी हैं...