मेहदावल में न दूल्हा आया न आई बारात:लाख अरमान संजोए इंतजार करती रही दुल्हन, दहेज के लिए तोड़ी शादी, सभी ने फोन किए ऑफ

मेहदावल3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मेहदावल में शादी की सारी तैयारियों के बाद नहीं पहुंची बारात। - Dainik Bhaskar
मेहदावल में शादी की सारी तैयारियों के बाद नहीं पहुंची बारात।

शादी की सारी तैयारियां हो चुकी थीं। लोग डीजे पर डांस कर रहे थे और बारात आने की ताक में सभी गेट की ओर टकटकी लगाए बैठे थे। लाख अरमान संजोए दुल्हन अपने पिया के इंतजार में बैठी थी, लेकिन पूरी रात गुजर गई पर बारात नहीं आई। परिजनों ने दहेज न दे पाने पर लड़के वालों पर शादी तोड़ने का आरोप लगाया है।

रात भर करते रहे फोन
मेंहदावल तहसील क्षेत्र में एक दुल्हन पूरी रात हाथों में मेहंदी लगाकर बारात का इंतजार करती रही, लेकिन बारात नहीं पहुंची। सारी तैयारियां हो चुकी थीं। लोग डीजे पर डांस कर रहे थे और बारात आने की ताक में सभी गेट की ओर टकटकी लगाए बैठे थे, लेकिन पूरी रात गुजर गई पर बारात नहीं आई। वहीं, दुल्हन के पक्षवालों की ओर से पूरी रात फोन के जरिए दूल्हे और उसके परिजनों से संपर्क करने की कोशिश की गई, लेकिन सभी का फोन बंद था। ऐसे में दुल्हन के परिजनों का आरोप है कि दहेज के चक्कर में बारात नहीं आई।

शादी के लिए लड़की पक्ष ने छपवाए थे निमंत्रण कार्ड।
शादी के लिए लड़की पक्ष ने छपवाए थे निमंत्रण कार्ड।

सिद्धार्थनगर से आनी थी बारात
बखिरा थाना क्षेत्र के देवलसा गांव का है, जहां एक बेटी की गुरुवार को शादी थी, जिसकी घरवालों ने सभी तैयारियां पूरी कर ली थीं। टेंट से लेकर डीजे तक की व्यवस्था थी और परिवार के सभी लोग शादी के जश्न में मस्त थे। बताया गया कि सिद्धार्थनगर जिले के नौगढ़ से बारात आने वाली थी, लेकिन दहेज के चक्कर में वर पक्षवाले बारात लेकर नहीं आए। हाथों में मेहंदी लगाए और आंखों में सपने संजोए युवती घंटों तक दूल्हे और बारात का इंतजार करती रही, मगर न तो दूल्हा पहुंचा और न ही बराती।

दहेज के चक्कर में नहीं पहुंची बारात
ऐेसे में परिवार के लोगों पर भी एक-एक पल भारी पड़ रहा था। हालांकि, पहले ही दुल्हन पक्ष की ओर से दहेज की रकम को लेकर काफी मिन्नतें की गई थी, लेकिन ऐन समय पर बारात न पहुंचने से सारी खुशियां काफूर हो गईं। इधर, दुल्हन के परिवार के साथ ही बारात का इंतजार कर रहे सैकड़ों मेहमान भी नाराज और निराश दिखे।

खबरें और भी हैं...