जलालाबाद के पिछड़ेपन को मुद्दा बनाएंगी गुरमीत कौर:पति हैं कांग्रेस कमेटी के सदस्य, पूर्व में भी दो बार कर चुके हैं टिकट की मांग

जलालाबाद, शाहजहांपुर3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

शाहजहांपुर जिले की 132 जलालाबाद विधानसभा से कांग्रेस पार्टी ने गुरमीत सिंह कौर को अपना प्रत्याशी बनाया है। उनके पति एडवोकेट चश्मपाल सिंह उर्फ राजा भैया हैं और उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी में पीसीसी सदस्य हैं ।

उन्होंने बताया कि वह पूरी दमदारी के साथ पत्नी को चुनाव लड़ाएंगे। क्षेत्र का पिछड़ापन उनका मुद्दा। रहेगा। वह जलालाबाद विधानसभा क्षेत्र की कलान तहसील में पटना देवकली में रहते हैं । जहां उनका एक कृषि फार्म है । गुरमीत कौर के पति चश्मपाल सिंह ने 11 साल पहले कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की थी।

चश्मपाल सिंह व गुरमीत कौर दोनों मूलता पंजाब के चंडीगढ़ के रहने वाले हैं। इन दोनों का विवाह सन 2000 में हुआ था। जिनकी एक बेटी कोहिनूर है और चंडीगढ़ में शिक्षा ग्रहण करती है। गुरमीत कौर ने एमएससी ,बीएड तक की शिक्षा ग्रहण की है।

चश्मपाल ने सन 2012 में कांग्रेस पार्टी से आंवला (बरेली) विधानसभा से टिकट मांगा था दूसरी बार 2017 में बिल्सी ( बदायूं) से टिकट की मांग की लेकिन टिकट नहीं मिला । उन्होंने पार्टी नहीं छोड़ी और पार्टी के प्रति निष्ठावान बने रहे ।

2022 के चुनाव में उनकी सब्र का नतीजा यह रहा कि प्रियंका गांधी ने उनकी पत्नी गुरमीत कौर को महिला होने के नाते जलालाबाद विधानसभा से प्रत्याशी बनाया । इसके लिए चश्मपाल सिंह उनकी पत्नी गुरमीत कौर कांग्रेस पार्टी व प्रियंका गांधी को धन्यवाद देते हैं।

उन्होंने कहा कि जलालाबाद विधानसभा क्षेत्र बहुत पिछड़ा हुआ है। कलान क्षेत्र में शिक्षा का अभाव है । वह पूरी दमदारी से चुनाव लड़ेंगे। कार्यकर्ताओं के विरोध करने पर उन्होंने बताया कि वह हालांकि क्षेत्र में नए हैं । लेकिन सभी कांग्रेस जनों से मिलकर वहां उनकी शिकायत दूर करेंगे और सब मिलकर चुनाव प्रचार में कूदेंगे।

खबरें और भी हैं...