शाहजहांपुर में बारातियों की तरह भाजपा प्रत्याशी का हुआ स्वागत:आगे-आगे भाजपा प्रत्याशी, पीछे बज रहे ढोल नगाड़े, ग्रामीण बोले किसी है बरात

शाहजहांपुर6 महीने पहले
भाजपा प्रत्याशी हरिप्रकाश वर्मा आगे-आगे पीछे बज रहे ढोल-नगाड़े

शाहजहांपुर में प्रत्याशियों की नजर में अपने नंबर बढ़ाने के लिए कार्यकर्ता अलग-अलग तरह के हथकंडे अपना रहे हैं। चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहा है प्रत्याशियों का गांव-गांव जाकर वोट मांगने में भी तेजी आ गई है। जलालाबाद विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी जैसे ही गांव में पहुंचे, उनके गाड़ी से उतरने से पहले ढोल नगाड़े बजने लगे। मानों जैसे किसी की बारात निकल रही हो। हालांकि ढोल नगाड़ों की आवाज सुनकर कुछ बाइक सवार आसपास खड़े लोगों से शादी के बारे में पूछने भी लगे। अब भाजपा प्रत्याशी को जनता चुने या नहीं, लेकिन ढोल नगाड़े बजाने वालों को एक दिन का रोजगार जरूर मिल गया। हालांकि प्रत्याशी की मीटिंग में न तो दो गज की दूरी दिखी और न ही चेहरों पर मास्क लगे मिले।

गाड़ी से उतरते ही भाजपा प्रत्याशी के स्वागत में बजने लगे ढोल-नगाड़े

भाजपा प्रत्याशी ही कोविड-19 गाइडलाइन की उड़ा रहे धज्जियां, चेहरे पर मास्क नहीं और दो गज की दूरी भी भूले
भाजपा प्रत्याशी ही कोविड-19 गाइडलाइन की उड़ा रहे धज्जियां, चेहरे पर मास्क नहीं और दो गज की दूरी भी भूले

शाहजहांपुर में दूसरे चरण में 14 फरवरी को वोट डाले जाएंगे। मतदान को सिर्फ 6 दिन बचे हैं। जैसे-जैसे दिन करीब आ रहे हैं प्रत्याशियों की मेहनत में इजाफा होता जा रहा है। यही वजह है कि प्रत्याशी अब एक दिन में कई दर्जन गांवों का दौरा कर जिताने की अपील कर रहे हैं। भाजपा ने जिलाध्यक्ष हरिप्रकाश वर्मा को जलालाबाद विधानसभा से टिकट दिया है। इस विधानसभा में आजादी के बाद से अब तक कभी भी कमल नहीं खिल पाया। जिसकी वजह से अब भाजपा प्रत्याशी पर कुछ ज्यादा ही जिम्मेदारी आ गई है। भाजपा प्रत्याशी हरिप्रकाश वर्मा अपने समर्थकों के साथ मदनापुर क्षेत्र के बुधवाना रोड पर आका खेड़ा गांव में वोट मांगने गए थे। एक घंटे में ही प्रत्याशी ने करीब आधा दर्जन गांवों में वोट मांग लिए थे। उसके बाद एक गांव में भाजपा प्रत्याशी के कार्यकर्ताओं ने सभा का आयोजन किया था। प्रत्याशी के आते ही गांव में ऐसा लगा जैसे बारात आ गई है।

ढोल नगाड़ों की आवाज सुनकर लोग बोले किसकी बारात आई

हरिप्रकाश वर्मा जैसे ही गाड़ी से उतरे वैसे ही वहां पर मौजूद तीन लोग ढोल नगाड़े बजाने लगे। ढोल नगाड़े का इतना शोर कि वहां से गुजर रहे बाइक सवार समेत तमाम लोग रूककर आसपास खड़े लोगों से बारात किसकी है, ये पूछने लगे। कार से सभा स्थल की दूरी करीब सौ मीटर की थी। रास्ते भर तीनों युवकों ने जमकर ढोल नगाड़े बजाकर प्रत्याशी को गदगद कर दिया। भाजपा प्रत्याशी की नजर में उनके समर्थकों ने अपने नंबर बढ़ाने के लिए ढोल नगाड़ों की व्यवस्था की थी और साथ ही सबसे ज्यादा उन तीन लोगों का फायदा हो गया। जो ढोल नगाड़े बजाकर प्रत्याशी का स्वागत कर रहे थे। भाजपा प्रत्याशी की जीत होगी या हार ये तो जनता तय करेगी, मगर चुनाव के नतीजे आने से पहले भाजपा प्रत्याशी ने तीन लोगों को एक दिन का रोजगार जरूर दे दिया।

खबरें और भी हैं...