मस्जिद में धार्मिक ग्रंथ जलाने वाला गिरफ्तार:ताज मोहम्मद बोला- मैंने नहीं मेरी आत्मा ने जलाया; परिवार मेरी शादी नहीं करा रहा

शाहजहांपुर3 महीने पहले

शाहजहांपुर में बुधवार शाम को मस्जिद में घुसकर धार्मिक ग्रंथ का अपमान करने वाला गिरफ्तार हो गया है। आरोपी का नाम ताज मोहम्मद मुन्ना है। वह मस्जिद से 3 किलोमीटर दूर बाडूजई मोहल्ले का रहने वाला है।

बातचीत में ताज मोहम्मद ने बताया कि मैं कोई काम नहीं करता हूं। हमेशा खाली इधर उधर घुमाता रहता हूं। परिवार वाले मेरी शादी नहीं करा रहे हैं। जिससे मैं परेशान रहता हूं। धार्मिक ग्रंथ क्यों जलाया के सवाल पर आरोपी ताज मोहम्मद ने बताया, "मैंने नहीं बल्कि मेरी आत्मा ने जलाया है।"

CCTV की मदद से इस आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।
CCTV की मदद से इस आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

इससे पहले बुधवार को धार्मिक ग्रंथ के अपमान की सूचना मिलते ही सैकड़ों की संख्या में लोग जुट गए। गुस्साए लोगों ने तत्काल गिरफ्तारी की मांग करते हुए रोड पर भाजपा के पोस्टर जला दिए। साथ ही पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारे लगाने लगे। माहौल बिगड़ते देख पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज कर दिया। मौके पर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

डीएम उमेश प्रताप सिंह ने सुरक्षा बल के साथ मोहल्ला बाबूजई स्थित मस्जिद और आस-पास एरिया का निरीक्षण किया।
डीएम उमेश प्रताप सिंह ने सुरक्षा बल के साथ मोहल्ला बाबूजई स्थित मस्जिद और आस-पास एरिया का निरीक्षण किया।

मामले का एक CCTV फुटेज भी सामने आया है। इसमें एक संदिग्ध नजर आ रहा है। इसके आधार पर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार किया है। इससे पहले आज सुबह डीएम ने इलाके का जायजा लिया। उन्होंने सभी से अपील की कि अफवाहों पर ध्यान न दें।

घटना की सूचना मिलते ही सैकड़ों की संख्या में आस-पास के लोग मौके पर पहुंच गए।
घटना की सूचना मिलते ही सैकड़ों की संख्या में आस-पास के लोग मौके पर पहुंच गए।

मामले में वादी हाफिज हसीब ने बताया, "घटना के बाद इलाके में तनाव है। इसके बावजूद सुबह की नमाज पढ़ी गई। लेकिन, जिस तादाद में लोग नमाज पढ़ने आते हैं। उस तादाद में नहीं आए। इस तरह की शाहजहांपुर में पहली घटना है। पुलिस मामले में कड़ी कार्रवाई करे।

भाजपा के होल्डिंग्स को फाड़कर लगाई आग
बताते चलें कि शाहजहांपुर शहर के चौक कोतवाली क्षेत्र के मुहल्ला बावूजई में सैयद शाह फखरे आलम मियां मस्जिद है। बुधवार शाम किसी समय दो युवकों ने मस्जिद में घुसकर वहां रखे धार्मिक ग्रंथ को जला दिया। मगरिब की नमाज के लिए जब इमाम हाफिज नदीम व अन्य लोग पहुंचे, तो धार्मिक ग्रंथ के जले हुए पन्ने देख उन्होंने मस्जिद के इमाम को सूचना दी।

तकरीबन 8 बजे के आस-पास इलाके में अच्छी खासी भीड़ जमा हो गई। इसके बाद कुछ युवाओं ने वहां लगे भाजपा के होल्डिंग्स को फाड़कर उसमें आग लगा दी।

भीड़ ने भाजपा के होल्डिंग्स को फाड़कर उसमें आग लगा दी।
भीड़ ने भाजपा के होल्डिंग्स को फाड़कर उसमें आग लगा दी।

अधिकारियों के समझाने पर भी नहीं मानी भीड़
आगजनी की सूचना के बाद एसपी, एसपी सिटी, एसपी ग्रामीण समेत भारी पुलिस बल भी मौके पर पहुंचे। पुलिस ने लोगों को समझाने का भरसक प्रयास किया, लेकिन भीड़ नहीं मानी और भाजपा का पोस्टर जलाने लगी। इसके बाद पुलिस ने मौके पर लाठी चार्ज कर दिया। जिसके बाद वहां भगदड़ की स्थिति बन गई। हालांकि, रात 9 बजे तक पुलिस ने स्थिति को अपने काबू में कर लिया था। फिलहाल पुलिस ने 24 घंटे में आरोपियों की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया है।

घटनास्थल पर तनाव को देखते हुए मौके पर भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है।
घटनास्थल पर तनाव को देखते हुए मौके पर भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है।

पुलिस खंगाल रही CCTV फुटेज
SP एस आनन्द ने बताया, " अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी गई है। भीड़ को समझाया गया है। आस-पास के CCTV कैमरे देखे जा रहे है। बहुत जल्द आरोपी को गिरफ्तार किया जाएगा।

मामले का एक CCTV फुटेज भी सामने आया है। इसमें एक संदिग्ध नजर आ रहा है।
मामले का एक CCTV फुटेज भी सामने आया है। इसमें एक संदिग्ध नजर आ रहा है।

आसपास क्षेत्र में भारी पुलिस बल तैनात
हंगामे को देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिस बल इलाके में तैनात है। कुछ लोगों को मस्जिद पर तैनात किया गया है। कुछ सिपाहियों को इलाके के मुख्य रास्ते पर तैनात किया गया है। कुछ सिपाहियों को मोहल्ले के अलग-अलग स्थानों पर तैनात किया गया है। आने-जाने वाले लोगों से पूछताछ भी हो रही है।

घटना के बाद मौके पर बड़ी संख्या में लोग इकट्‌ठा हो गए।
घटना के बाद मौके पर बड़ी संख्या में लोग इकट्‌ठा हो गए।

एक ही गेट से है मस्जिद में आना जाना

डीएम उमेश प्रताप सिंह ने मस्जिद का भी जायजा लिया।
डीएम उमेश प्रताप सिंह ने मस्जिद का भी जायजा लिया।

मस्जिद के अंदर जाने-आने का एक ही रास्ता और एक गेट है। गेट से मस्जिद के अंदर करीब 15 से 20 कदम चलने के बाद नमाज पढ़ने के लिए दरी बिछी हुई है। नमाज पूरी होने के बाद नमाजी मस्जिद में साइड में रखे कुरान को पढ़ते हैं। यह आपकी मर्जी पर निर्भर करता है। मस्जिद गेट से अंदर करीब 25 से 30 कदम की दूरी पर कुरान जला हुआ पड़ा था।

खबरें और भी हैं...