शाहजहांपुर में भाजपा नेताओं पर लाठीचार्ज:पंजाब सरकार के खिलाफ मशाल जुलूस निकालने की कर रहे थे तैयारी, पुलिस ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा

शाहजहांपुर12 दिन पहले

शाहजहांपुर के तिलहर थाना क्षेत्र में गुरुवार रात पंजाब सरकार के खिलाफ मशाल जुलूस निकालने की तैयारी कर रहे भाजपा कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। आरोप है कि भाजपाइयों को सड़क पर दौड़ा-दौड़ाकर पीटा गया। इससे आक्रोशित भाजपाई थाने के बाहर धरने पर बैठ गए और कोतवाल समेत पूरे थाने को सस्पेंड करने की मांग करने लगे। हंगामे की सूचना पर एसपी ग्रामीण और सीओ मौके पर पहुंचे। इस दौरान एसपी ग्रामीण और सीओ से भी भाजपाइयों ने धक्का-मुक्की की।

पंजाब सरकार के खिलाफ कर रहे थे प्रदर्शन

बता दें कि पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक होने से भाजपाई आक्रोशित हैं। पूरे प्रदेश में जगह-जगह पंजाब की कांग्रेस सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इसी कड़ी में गुरुवार रात तिलहर थाना क्षेत्र में भाजपा, भारतीय जनता युवा मोर्चा और हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ता मशाल जुलूस निकालकर शहीद कुटी पर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। सभी भारत माता की जय और पंजाब के सीएम को बर्खास्त करो के नारे लगा रहे थे।

थाने के बाहर जमा भाजपाई।
थाने के बाहर जमा भाजपाई।

तिलहर थाने के कोतवाल पर लगा आरोप

भाजपा विस्तारक निखिल चौधरी व हिन्दू युवा वाहिनी के जिला उपाध्यक्ष सिद्धार्थ गुप्ता का आरोप है कि मशाल जुलूस के दौरान तिलहर थाने के कोतवाल रविंद्र सिंह भारी पुलिस बल के साथ आए और बिना कुछ पूछे उन पर लाठीचार्ज कर दिया। पुलिस ने उन्हें और भाजपा कार्यकर्ताओं को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। कार्यकर्ताओं ने किसी तरह खुद को बचाया। इसके बाद सभी वार्ता करने के लिए कोतवाल के कार्यालय में गए। पदाधिकारी बातचीत कर रहे थे कि तभी पुलिसकर्मियों ने फिर से उन्हें पीटना शुरू कर दिया। नगर अध्यक्ष राजीव राठौर का आरोप है कि कार्यकर्ताओं को गिरेबान पकड़कर खींचा गया।

पुलिस अधिकारियों से वार्ता करते भाजपाई।
पुलिस अधिकारियों से वार्ता करते भाजपाई।

थाने के गेट पर किया धरना प्रदर्शन

पुलिस की कार्यशैली से नाराज भाजपा कार्यकर्ताओं ने कोतवाल सहित पूरे थाने को सस्पेंड करने की मांग को लेकर थाना गेट पर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया। सूचना पर सीओ अरविंद कुमार ने मौके पर पहुंचकर कार्यकर्ताओं को समझाने का प्रयास किया, लेकनि कार्यकर्ता नहीं मानें। इस बीच भाजपा विस्तारक निखिल चौधरी से सीओ की जमकर नोकझोंक भी हुई। रात करीब 10 बजे एसपी ग्रामीण संजीव बाजपेई भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने सीओ के साथ जाकर कार्यकर्ताओं से वार्ता करना चाही तो कार्यकर्ताओं ने उनसे धक्का-मुक्की शुरू कर दी।

भाजपा के जिला उपाध्यक्ष अरुण यादव चैनू भी अपने दर्जनों कार्यकर्ताओं के साथ पहुंचे और कोतवाल समेत पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग की। हिन्दू युवा वाहिनी के जिलाध्यक्ष स्वप्निल शर्मा भी साथियों के साथ कोतवाली गेट पर पहुंच गए। कार्यकर्ताओं की संख्या के साथ ही बवाल बढ़ने लगा। टकराव की आशंका के चलते कई थानों की पुलिस को बुलाया गया।

भाजपाइयों के पिटने की सूचना मिलने के बाद थाने के बाहर जमा भीड़।
भाजपाइयों के पिटने की सूचना मिलने के बाद थाने के बाहर जमा भीड़।

एसपी ने दिया कार्रवाई का आश्वासन

एसपी एस आंनद ने बताया कि हंगामे की सूचना पर एसपी ग्रामीण और सीओ मौके पर पहुंचे थे। उन लोगों ने भाजपा कार्यकर्ताओं को समझा-बुझाकर शांत करा दिया। एसपी ने बताया कि कोतवाल को हटाने का आश्वासन दिया गया है। बहुत जल्द कोतवाल को हटा दिया जाएगा। कोतवाल के ऊपर लाठीचार्ज करने का आरोप लगा है। इसकी जांच कराई जाएगी।

कोतवाल पर गिरी गाज

भाजपाइयों पर लाठीचार्ज करने वाले इंस्पेक्टर रविंद्र सिंह पर गाज गिरी है। इंस्पेक्टर को लाइन हाजिर किया गया है। उमेश सोलंकी को थाना प्रभारी बनाया गया है। एसपी ग्रामीण संजीव कुमार वाजपेयी ने जानकारी देते हुए बताया कि इंस्पेक्टर रविंद्र सिंह ने सूझबूझ के साथ काम नहीं किया था। लाठीचार्ज कर दिया था। उनको लाइन हाजिर कर दिया गया है।

खबरें और भी हैं...